पुणे पोर्से कार: देखिए कैसे पूरे सिस्टम को किया था हैक, ब्लड सैंपल बदलने डॉक्टर को दिए थे लाखों रुपए, डॉक्टर गिरफ्तार

0
159
पुणे (संवाद)। बीते दिनों पुणे शहर में हुए पोर्से कार से एक्सीडेंट मामले में दो इंजीनियरों की दुखद मौत हो गई थी, उसके बाद इस हाई प्रोफाइल मामले में जिस तरीके के उतार चढ़ाव और नए खुला से देखे गए उससे तो यह प्रतीत होता है कि और पोर्से कर मलिक विशाल अग्रवाल पूरे सिस्टम को हैक किए हुए हैं। हालांकि शुरुआत में जरूर पुलिस के ऊपर भी सवाल खड़े हुए थे। लेकिन पूरे मामले में जिस तरीके से मीडिया ने भूमिका निभाई है या मीडिया ट्रायल में सच्चाई को दिखाया गया उसके बाद पुलिस का रवैया बदल गया।

पुणे पोर्से कार: देखिए कैसे पूरे सिस्टम को किया था हैक, ब्लड सैंपल बदलने डॉक्टर को दिए थे लाखों रुपए, डॉक्टर गिरफ्तार

हिट एंड रन के इस मामले में अब तक लगभग एक दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है वही कई रेस्टोरेंट और बीयर बार में बुलडोजर चलाया गया है। इसके पहले मशहूर बिल्डर और रियल एस्टेट कारोबारी विशाल अग्रवाल की अहमियत और उसका रुतबा देखने लायक है शुरुआत से लेकर जिस तरीके से उसने अपने पावर और पकड़ का इस्तेमाल किया निश्चित रूप से कहीं ना कहीं उनके कनेक्शन अंडरवर्ल्ड गैंग की ओर इशारा करता है। विशाल अग्रवाल अपने बेटे को बचाने के लिए पूरी कोशिश कर चुका था और वह सफल भी हो गया था लेकिन मीडिया ट्रायल के दौरान उसकी पूरी पकड़ और रुतबा धरा का धरा रह गया।

पुणे पोर्से कार: देखिए कैसे पूरे सिस्टम को किया था हैक, ब्लड सैंपल बदलने डॉक्टर को दिए थे लाखों रुपए, डॉक्टर गिरफ्तार

Big Action: धोखाधड़ी के मामले में 2 तहसीलदार,3 पटवारी,1 रजिस्ट्रार सहित 10 लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में FIR दर्ज, यहां जानिए पूरा मामला

लगातार महाराष्ट्र पुलिस के द्वारा रोज नए खुला से किया जा रहे हैं आरोपी बेटे के पिता विशाल अग्रवाल की गिरफ्तारी के बाद उनके दादा की भी गिरफ्तारी हुई थी इसके पहले रेस्टोरेंट और बीयर बार के मालिकों की भी गिरफ्तारी इस मामले में हो चुकी है। अब जो जानकारी निकाल कर सामने आ रही है उसमें यह की विशाल अग्रवाल के नाबालिक बेटे के द्वारा शराब के नशे में 240 की रफ्तार में कार चलते हुए एक्सीडेंट किया था।

पुणे पोर्से कार: देखिए कैसे पूरे सिस्टम को किया था हैक, ब्लड सैंपल बदलने डॉक्टर को दिए थे लाखों रुपए, डॉक्टर गिरफ्तार

नए अवतार में धूम मचाने पेश होगी Tata Sumo की धाकड़ कार जाने लाजवाब फीचर्स

पुलिस ने इस बात का जिक्र फिर में भी किया था और उसके ब्लड सैंपल भी जांच के लिए लिए गए थे लेकिन जिन डॉक्टरों को ब्लड सैंपल की जांच करने का जिम्मा मिला था वह भी विशाल अग्रवाल से लाखों रुपए लेकर सैंपल बदलने या रिपोर्ट बदलने को राजी हो गए। इस बात का खुलासा स्वयं पुलिस कमिश्नर प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कर रहे हैं। पुलिस ने बताया कि शासन हॉस्पिटल में डॉक्टर होलनोर ने आरोपी का ब्लड सैंपल लिया था। और उसी ने ब्लड सैंपल में हेरफेर कर दिया। जब पुलिस को स्पष्ट हो गया तब पुलिस ने डॉक्टर होल नूर को गिरफ्तार कर पूछताछ की तब उसने अस्पताल के एचओडी के दबाव में ब्लड सैंपल बदलने का काम किया था और इसके लिए उसे 3 लाख रुपये मिले थे।

पुणे पोर्से कार: देखिए कैसे पूरे सिस्टम को किया था हैक, ब्लड सैंपल बदलने डॉक्टर को दिए थे लाखों रुपए, डॉक्टर गिरफ्तार

पुलिस ने दोनों आरोपियों डॉक्टर के खिलाफ मामले में धारा 120 (बी), 467 जालसाजी और 201, 213, 214 सहित सबूत नष्ट करने की धाराएं जोड़ी गई है दोनों डॉक्टर को गिरफ्तार किया जा चुका है जिन्हें कोर्ट में पेश कर डिमांड मांगी जाएगी। पुलिस ने बताया कि डॉक्टर के द्वारा नाबालिक आरोपी कार चालक का ब्लड सैंपल पुलिस के सामने जरूर लिया गया था लेकिन इसके बाद उसे सैंपल को कूड़ेदान में फेंक दिया गया और उसकी जगह दूसरा सैंपल रख दिया गया।

पुणे पोर्से कार: देखिए कैसे पूरे सिस्टम को किया था हैक, ब्लड सैंपल बदलने डॉक्टर को दिए थे लाखों रुपए, डॉक्टर गिरफ्तार

किसानो को हींग की खेती कर देंगी मालामाल, कम लागत में होंगी लाखो की कमाई

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here