Big Action: धोखाधड़ी के मामले में 2 तहसीलदार,3 पटवारी,1 रजिस्ट्रार सहित 10 लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में FIR दर्ज, यहां जानिए पूरा मामला

0
244
CG (संवाद)। छत्तीसगढ़ राज्य के जांजगीर जिले में कोर्ट में दायर परिवार में कोर्ट ने बड़ा एक्शन लिया है। जिसमें जांजगीर जिले के अंतर्गत 2 तहसीलदार 3 पटवारी 1 डिप्टी रजिस्टार सहित मामले से जुड़े 10 लोगों के खिलाफ गंभीर अपराध दर्ज करने कोर्ट ने पुलिस को आदेशित किया है। कोर्ट के आदेश के बाद पुर जांजगीर जिले के सरकारी महकमें हड़कंप मच गया है।

Big Action: धोखाधड़ी के मामले में 2 तहसीलदार,3 पटवारी,1 रजिस्ट्रार सहित 10 लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में FIR दर्ज, यहां जानिए पूरा मामला

दरअसल यह मामला दो लोगों के एक ही नाम मतलब हमनाम होने से जुड़ा है। जिसमें निजी व्यक्ति की जमीन को सरकारी अधिकारियों और कर्मचारी से सांठ गांठ करके विक्रय कर दी गई। इसके बाद जमीन के असल भूमि स्वामी के द्वारा इसकी शिकायत प्रशासनिक अधिकारियों से लेकर पुलिस को की गई थी। लेकिन कोई भी कार्यवाही नहीं होने की स्थिति में असल भूमि स्वामी के द्वारा न्यायालय में इस संबंध में परिवाद दायर किया गया था।

Big Action: धोखाधड़ी के मामले में 2 तहसीलदार,3 पटवारी,1 रजिस्ट्रार सहित 10 लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में FIR दर्ज, यहां जानिए पूरा मामला

TVS Apache पर जोर का थप्पड़ मारेंगी Bajaj Pulsar N150 बाइक, जानिए इसकी कीमत और फीचर्स

न्यायालय में दायर परिवाद की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने मामले को गंभीरता से लिया है।सुनवाई के दौरान सारे तथ्य सुनने और दस्तावेजों को सही पाए जाने के बाद न्यायालय के द्वारा आरोपी पाए जाने पर तत्कालीन तहसीलदार डीएस उइके, सरस्वती बंजारे,पटवारी भूषण मरकाम,पटवारी अरविंद साहू, पटवारी युवराज पटेल,चांपा के तत्कालीन डिप्टी रजिस्टार विजय दिढ़तुडूक के खिलाफ धारा 467,468,469,471,34,120 बी के तहत FIR दर्ज करने के आदेश दिए थे जिसमें कोर्ट के आदेश पर चांपा थाने में अपराध दर्ज किया गया है।

Big Action: धोखाधड़ी के मामले में 2 तहसीलदार,3 पटवारी,1 रजिस्ट्रार सहित 10 लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में FIR दर्ज, यहां जानिए पूरा मामला

मामले में बताया गया कि बिलासपुर जिले के तखतपुर थाना क्षेत्र के निवासी संजय पांडे पिता बहोरन पांडे उम्र 47 वर्ष की 15 डिसमिल जमीन जांजगीर जिले के चांपा ब्लॉक के ग्राम क़ुरदा में रही है। यह जमीन नेशनल हाईवे से लगी होने के कारण कई लोगों की इस जमीन पर टेढ़ी नजर रही है। क़ुरदा गांव के निवासी संजय बरेड भी इस जमीन को हथियाना चाहता था जिसके लिए उसके दिमाग में एक षड्यंत्र कार्यों प्लान सूझ दोनों के एक ही नाम संजय होने के कारण संजय बरेठ ने तत्कालीन पटवारी से मिली भगत करके स्वयं संजय पांडे बनकर इसकी एक अलग ऋण पुस्तिका बनवा लिया था जिसमें बकायादे तहसीलदार के हस्ताक्षर भी करा लिए।

Big Action: धोखाधड़ी के मामले में 2 तहसीलदार,3 पटवारी,1 रजिस्ट्रार सहित 10 लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में FIR दर्ज, यहां जानिए पूरा मामला

Toyota की गर्मी निकालने आ गयी Mahindra Scorpio N की तगड़ी कार लाजवाब फीचर्स पावरफुल इंजन के साथ

इसके बाद संजय बरेठ स्वयं संजय पांडे बनकर इस फर्जी ऋण पुस्तिका के आधार पर असल भूमि स्वामी संजय पांडे की जमीन की बिक्री कर दिया। जमीन बिकने की जानकारी असली भूमि स्वामी संजय पांडे को लगने के बाद उसके द्वारा मामले की शिकायत जिले के प्रशासनिक अधिकारियों और पुलिस से की गई। लेकिन कोई सुनवाई नहीं होने पर उसके द्वारा न्यायालय में परिवाद दायर किया गया जिसमें कोर्ट ने दोषी पाते हुए तत्कालीन तहसीलदार डीएस उइके, सरस्वती बंजारे,पटवारी भूषण मरकाम,पटवारी अरविंद साहू, पटवारी युवराज पटेल,चांपा के तत्कालीन डिप्टी रजिस्टार विजय दिढ़तुडूक, जमीन विक्रेता संजय कुमार बरेठ, भूमि क्रेता साहिल देवांगन, गवाह अभय पांडेय और संतोष देवांगन के खिलाफ कोर्ट के आदेश पर चंपा थाने में विभिन्न धाराओं में एफआईआर दर्ज कराई गई है।

Big Action: धोखाधड़ी के मामले में 2 तहसीलदार,3 पटवारी,1 रजिस्ट्रार सहित 10 लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में FIR दर्ज, यहां जानिए पूरा मामला

5G रंगीन दुनिया में अपना जलवा बिखेरने आ गया Vivo का धाकड़ स्मार्टफोन, जाने कीमत और फीचर्स

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here