Gwalior:अब भिखारियों को ढूढेंगे शिक्षक,इसके लिए बकायदे आदेश जारी,अजीबो गरीब फरमान से शिक्षकों में आक्रोश

0
448
ग्वालियर (संवाद)। मध्यप्रदेश में एक जिला शिक्षा अधिकारी के द्वारा अजीबो गरीब जारी फरमान से शिक्षकों में भारी नाराजगी देखी जा रही है। शिक्षकों का कहना है कि जिस काम के लिए पंचायत सचिव, कोटवार और चपरासी को किया जाना चाहिए उस काम को शिक्षकों के द्वारा कराया जाना बिल्कुल भी उचित नहीं माना जा सकता।

Gwalior:अब भिखारियों को ढूढेंगे शिक्षक,इसके लिए बकायदे आदेश जारी,अजीबो गरीब फरमान से शिक्षकों में आक्रोश

दरअसल यह मामला ग्वालियर जिले का है जहां जिले के शिक्षा अधिकारी के द्वारा अजीबो गरीब फरमान जारी किया गया है। शिक्षा अधिकारी के द्वारा लिखित में आदेश जारी किया गया है कि अब जिले के शिक्षको की भिखारियो को ढूंढने में ड्यूटी लगाई जाती है। इसके लिए शिक्षा अधिकारी ने बकायदे आदेश जारी किए हैं आदेश में समय का भी उल्लेख किया गया है, जिसमें 9 घंटे प्रतिदिन का उल्लेख किया गया है।

Gwalior:अब भिखारियों को ढूढेंगे शिक्षक,इसके लिए बकायदे आदेश जारी,अजीबो गरीब फरमान से शिक्षकों में आक्रोश

जिला शिक्षा अधिकारी के द्वारा जारी आदेश में महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यक्रम का उल्लेख किया गया है। जिसमें बाल भिक्षा वृत्ति को रोकने और उनके पुनर्वास सहित उन्हें मुख्य धारा से जोड़ने का उल्लेख किया गया है। शिक्षा अधिकारी के आदेश में कुछ हायर सेकेंडरी स्कूल के प्राचार्य और व्याख्याताओ की भी ड्यूटी लगाई गई है।

Gwalior:अब भिखारियों को ढूढेंगे शिक्षक,इसके लिए बकायदे आदेश जारी,अजीबो गरीब फरमान से शिक्षकों में आक्रोश

Umaria: बगैर डिग्री के इलाज कर रहा था झोलाछाप बंगाली डॉक्टर, SDM ने कर दी क्लीनिक सील

जिला शिक्षा अधिकारी ग्वालियर के इस आदेश के बाद शिक्षण जगत में आक्रोश पनप रहा है शिक्षकों का कहना है कि हायर सेकेंडरी के प्राचार्य और व्याख्याताओ को अब भिखारियो को ढूंढने का काम कहीं से भी उचित नहीं है इसके लिए तो पंचायत के सचिव, कोटवार, पटवारी,चपरासी और पुलिस के लोग हो सकते है।

Gwalior:अब भिखारियों को ढूढेंगे शिक्षक,इसके लिए बकायदे आदेश जारी,अजीबो गरीब फरमान से शिक्षकों में आक्रोश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here