विधानसभा में गूंजा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में वर-वधू को नकली आभूषण दिए जाने का मामला

0
797
एमपी (संवाद)। मध्यप्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान सरकार की अनुकरणीय योजना मुख्यमंत्री कन्यादान विवाह में विवाह उपरांत वर वधु को दिए जाने वाले उपहार स्वरूप सोने चांदी के जेवर मे मिलावट और नकली होने के मामले मध्य प्रदेश के कई जिलों से सामने आए हैं। जिसका पूरे प्रदेश में काफी हो हल्ला मचा हुआ है। वही विधानसभा के बजट सत्र में भी आज सोमवार को सदन में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में नकली आभूषण दिए जाने का मुद्दा गरमाया रहा।
सदन में विपक्षी विधायक विजयलक्ष्मी साधो और तरुण भनोट के द्वारा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के दौरान वर वधु को विवाह उपरांत नकली व मिलावटी आभूषण दिए जाने का मुद्दा उठाया गया है। उनका सरकार पर आरोप है कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना में जमकर भ्रष्टाचार हो रहा है। जिम्मेदार अधिकारी सहित विवाह में उपहार स्वरूप सामानों के सप्लायर मिलावटी और घटिया किस्म के समान सप्लाई कर रहे हैं। यह मुद्दा सदन में काफी देर तक गूंजता रहा, सरकार की तरफ से भी मंत्रियों ने मुद्दे में जांच कराने और कार्यवाही करने की बात कही है। विपक्ष के विधायकों के सवाल के जवाब में सरकार के मंत्री नरोत्तम मिश्रा जनजातीय कार्य मंत्री सुश्री मीना सिंह सहित अन्य मंत्रियों ने जवाब देते हुए जांच टीम बनाकर मामले की जांच कराने की बात कही है।
बता दें कि हाल ही में पूरे प्रदेश के जिलों में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया था। जिसमें हजारों जोड़ों का विवाह बड़े उत्साह और उमंग के साथ संपन्न कराया गया है। इस दौरान तमाम जगहों पर क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों सहित विधायक और मंत्री भी शामिल हुए हैं। इसी दौरान मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में विवाह उपरांत वर वधु को उपहार स्वरूप सामान और सोने चांदी के आभूषण दिया जाना था। जिसमें कई जगहों से नकली और मिलावटी सामान दिए जाने के मामले प्रकाश में आए हैं। खासकर चांदी के आभूषण घटिया किस्म के बताए जा रहे हैं। हालांकि सामूहिक विवाह के दौरान उपस्थित जनप्रतिनिधियों ने मामले को संज्ञान में लेते हुए इसे तत्काल रोकने और वर वधु को दिए गए आभूषण को वापस लौटाने का काम किया है और उसके बदले उन्हें नगर राशि चेक के माध्यम से प्रदान की गई है। शहडोल जिले के ब्यौहारी में भी कुछ इसी तरह का मामला सामने आया है, इसके अलावा मालवा क्षेत्र के कुछ आयोजनों में भी इसकी शिकायत आई है।
उमरिया जिले के मानपुर में भी यह आज आयोजन बड़े ही उत्साह और उमंग के साथ किया गया था। जिसमें क्षेत्रीय विधायक और सरकार की मंत्री सुश्री मीना सिंह भी शामिल हुई थी, यहां पर भी वर वधु को दिए जाने वाले आभूषण में भी सप्लायर के द्वारा गड़बड़ी की गई थी। जिसे कार्यक्रम में मौजूद जनजातिय कार्य मंत्री सुश्री मीना सिंह ने तुरंत पकड़ लिया और मामले का संज्ञान लेते हुए उनके द्वारा वर वधु को दिए गए आभूषण को वापस लौटाने के निर्देश दिए। उसके बाद उनके द्वारा वर वधु को चेक के माध्यम से राशि प्रदान की गई थी, मंत्री मीना सिंह ने मंच से ही योजना में गड़बड़ी करने वाले और नकली सामान देने वालों का पता लगाकर कार्यवाही करने की बात कही गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here