जिले की तश्वीर बदलने में जुटे कलेक्टर अवि प्रसाद,कहीं बच्चो के लिए पका रहे रोटी तो कहीं कर रहे व्यवस्था दुरुस्त

0
290
कटनी (संवाद)। शासकीय तिलक महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना की छात्राओं के ग्राम बिजौरी में लगे शिविर में अचानक कलेक्टर अवि प्रसाद को अपने बीच पाकर छात्रायें खुशी से फूली नहीं समा रही थीं। शिविर की प्रत्येक छात्रा उनसे बात कर भावी जीवन में काम आ सकने वाली टिप्स लेने आतुर थीं। कलेक्टर श्री प्रसाद ने भी किसी को मायूस नही किया। सबसे बात किया, गांव मे काम करने के छात्राओं के अनुभव सुने और अपने भी विचार साझा किये। चर्चा के बीच ही देर शाम हो जाने से भोजन बनने का सिलसिला शुरू हुआ। कलेक्टर श्री प्रसाद ने भी इसमें सहभागिता की और रोटियों की सिकाई के काम मे छात्राओं का हाथ बंटाया।
वहीं खितौली ग्राम के विश्राम गृह को संरक्षित करने की पहल करते हुए कलेक्टर अवि प्रसाद ने उसकी मरम्मत और रखरखाव के लिए इस्टीमेट तैयार करने के निर्देश जल संसाधन विभाग को दिए हैं। शनिवार की देर शाम छात्रावास निरीक्षण दौरान खितौली पहुंचे कलेक्टर अवि प्रसाद ने गांव में एकांत में बने जल संसाधन विभाग के विश्राम गृह का भी निरीक्षण किया। इस दौरान वे विश्राम गृह की निर्माण कला से प्रभावित हुए और इसे व्यवस्थित कर संरक्षित करने के निर्देश दिए।
ब्रिटिश निर्माण कला का प्रतीक है विश्राम गृह
सन् 1923 में ब्रिटिश काल में निर्मित यह विश्राम गृह तत्कालीन स्टोन मशीनिरी से निर्मित अदभुत कला का प्रतीक है। पूरा भवन ब्रिटिश शैली में बना हुआ है जिसमें कमरों को गर्म करने के लिए चिमनी भी बनी है। भवन की निर्माण कला से प्रभावित कलेक्टर श्री प्रसाद ने इसकी उपेक्षा पर चिंता व्यक्त करते हुए इसके बेहतर रखरखाव और मरम्मत के लिए इस्टीमेट तैयार करने के निर्देश संबंधित विभाग को दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here