Umaria:स्वास्थ्य विभाग एक बार फिर सुर्खियों में, आउटसोर्स भर्ती प्रक्रिया में गड़बड़ी,कलेक्टर ने जांच कराने कही बात

0
281
उमरिया (संवाद)। जिले का स्वास्थ्य विभाग एक बार फिर सुर्खियों में आया है जिसमें इस बार एक एनजीओ के साथ मिलकर विभाग के अधिकारी और कर्मचारी आउटसोर्सिंग से रिक्त पदों को भरने की प्रक्रिया प्रारंभ की गई है। यह प्रक्रिया एक एनजीओ के द्वारा विभाग में रिक्त पदों के लिए अस्थाई तौर पर कर्मचारियों की भर्ती करवाई जा रही है। लेकिन इस पूरी प्रक्रिया में ना तो एनजीओ के द्वारा और ना ही विभाग के द्वारा भर्ती से संबंधित कोई विज्ञापन और ना ही कोई इसकी जानकारी प्रकाशित कराई गई। इसी से प्रतीत होता है कि इस पूरे प्रक्रिया में धांधली बरती जा रही है। मामले की जानकारी के बाद जिले के कलेक्टर इस पूरी प्रक्रिया की जांच करने की बात कही है।

Umaria:स्वास्थ्य विभाग एक बार फिर सुर्खियों में, आउटसोर्स भर्ती प्रक्रिया में गड़बड़ी,कलेक्टर ने जांच कराने कही बात

ऑटोमोबाइल मार्केट में तहलका मचाने आ गई TVS Apache बाइक, जाने दमदार इंजन और फीचर्स

स्वास्थ्य विभाग में विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों से सांठगांठ करके चोरी छुपे तरीके से जिले के बाहर और अपने चहेतों लोगों की भर्ती करवाई जा रही है, जबकि स्थानीय स्तर पर किसी को जानकारी नहीं होने के कारण वह इस भर्ती से वंचित रह गए। इसका प्रमुख कारण यह की इनके द्वारा भर्ती प्रक्रिया का विज्ञापन जारी नहीं कराई जाने से आम आदमी और यहां के बेरोजगारों की इस भर्ती की जानकारी बिल्कुल भी नहीं हो सकी। इसकी जानकारी सिर्फ उन्हीं लोगों को हुई जो एनजीओ और विभाग के अधिकारी-कर्मचारी के चहेते रहे होंगे या जिनसे इनकी सांठ गांठ रही होगी।

Umaria:स्वास्थ्य विभाग एक बार फिर सुर्खियों में, आउटसोर्स भर्ती प्रक्रिया में गड़बड़ी,कलेक्टर ने जांच कराने कही बात

हालांकि आखिरी समय में स्थानीय कुछ लोगों को इस बात की जानकारी हुई तब वह आनन-फानन में आवेदन तो किया, लेकिन उनके आवेदन भी निरस्त कर दिए गए।
मिली जानकारी के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग के राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत जिले में 4 परामर्श दाताओं की भर्ती की जानी है। जबकि विभाग ने इसका जिम्मा एक एनजीओ दर्शना महिला कल्याण समिति छतरपुर को सौपा है। लेकिन इस पूरी भर्ती प्रक्रिया का विधिवत विज्ञापन जारी किया जाना था लेकिन गो के द्वारा गोपनीय तरीके से इस पूरी प्रक्रिया को अंजाम दिया जा रहा था हालांकि विभाग के द्वारा इससे संबंधित जानकारी कुछ व्हाट्सएप ग्रुपों में शेयर की गई थी। लेकिन उसमें भी बहुत सारी त्रुटियां सामने आई है। इससे साफ जाहिर होता है कि एनजीओ के साथ विभाग मिलकर जिले के युवा बेरोजगारों के साथ छल करके अपने चहेतों की भर्ती चुपचाप कर लेना चाहते थे।

Umaria:स्वास्थ्य विभाग एक बार फिर सुर्खियों में, आउटसोर्स भर्ती प्रक्रिया में गड़बड़ी,कलेक्टर ने जांच कराने कही बात

हसीनाओ का दिल लूटने आ गया Oneplus का धांसू स्मार्ट, जाने पूरी जानकारी

मिली जानकारी के मुताबिक इस पूरी भर्ती प्रक्रिया का जजिम्मा संभाल रहे एनजीओ के द्वारा बीते महीने 29 अप्रैल को शहर के कृष्ण गार्डन में साक्षात्कार की प्रक्रिया रखी गई इसमें जिले से कुल 5 अभ्यर्थी को ही बुलाया गया। इसके बाद किस तरीके से उनका साक्षात्कार हुआ और परिणाम बाद में बताने बोलकर चलता कर दिए। फिर दूसरे दिन यानी 30 अप्रैल को शाम 5 बजे अचानक पांचो अभ्यर्थियों को जानकारी दी गई की 1 में को वह भोपाल पहुंचकर स्किल टेस्ट में शामिल हो। काफी विलंब से जानकारी देने के कारण सभी अभ्यर्थी भोपाल नहीं पहुंच सके, जिसमें कुल तीन अभ्यर्थी ही भोपाल में स्किल टेस्ट देने पहुंच पाए। जिसमें सिर्फ एक अभ्यर्थी का सिलेक्शन हुआ है। सूत्र बताते है कि इस पूरे मामले में जिस तरीके से संबंधित एनजीओ और विभाग के कर्मचारी के द्वारा लापरवाही और धांधली बरती गई है। इससे साफ जाहिर होता है कि यह पूरी प्रक्रिया गड़बड़ी की भेंट चढ़ी है। मामले में जिले के कलेक्टर धरणेन्द्र कुमार जैन को जानकारी होने के बाद उनके द्वारा इस पूरी भर्ती प्रक्रिया की जांच करने की बात कही गई है।

Umaria:स्वास्थ्य विभाग एक बार फिर सुर्खियों में, आउटसोर्स भर्ती प्रक्रिया में गड़बड़ी,कलेक्टर ने जांच कराने कही बात

Ertiga की बत्ती बुझाने आ गई Renault Triber, जाने इसके अपडेट फीचर्स और क़ीमत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here