Umaria News: बीजेपी के शिवनारायण की ऐतिहासिक जीत ने सभी को चौका दिया,यहां जानिए कैसे हुआ उलटफेर

0
1157
उमरिया (संवाद)। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2023 का जब बिगुल बजा तब प्रदेश भर में राजनीतिक दलों के द्वारा प्रदेश की सभी 230 विधानसभा सीटों के लिए प्रत्याशियों का चयन किया जाने लगा। प्रदेश में बीते 20 वर्षों से सत्तासीन बीजेपी पार्टी एंटी इनकंबेंसी को लेकर भयभीत रही है। इसी डर के कारण बीजेपी ने 2023 के चुनाव में उम्मीदवार उतारने के लिए सर्वे कराया जाने लगा। सर्वे में भी सरकार के कई मंत्री और कई विधायकों की टिकट कटने या चुनाव में उनके हारने का खुलासा हुआ इसके बाद टिकट वितरण के दौरान कई मौजूदा विधायकों टिकट काटने की चर्चा सरेआम हो रहे थे।

Umaria News: बीजेपी के शिवनारायण की ऐतिहासिक जीत ने सभी को चौका दिया,यहां जानिए कैसे हुआ उलटफेर

इसी कड़ी में उमरिया जिले की बांधवगढ़ विधानसभा सीट से मौजूदा विधायक शिवनारायण सिंह का भी नाम शामिल रहा है। पार्टी भी पूरा मन बना चुकी थी कि इस चुनाव में शिव नारायण सिंह की टिकट काटकर उनके पिता ज्ञान सिंह को दी जाए। लेकिन जब शिवनारायण सिंह ने अपनी चुनाव लड़ने की इच्छा पिता से जाहिर की, तब स्वयं ज्ञान सिंह अपने बेटे शिवनारायण को टिकट दिलाने प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान से बात की। इतना ही नहीं इस दौरान उन्होंने चुनाव जिताने का पूरा भरोसा भी दिया था।

Umaria News: बीजेपी के शिवनारायण की ऐतिहासिक जीत ने सभी को चौका दिया,यहां जानिए कैसे हुआ उलटफेर

अब बांधवगढ़ विधानसभा चुनाव में फिर एक बार शिवनारायण सिंह उर्फ लल्लू भैया को बीजेपी से टिकट मिल चुकी थी और वह चुनावी मैदान में उतर चुके थे। लेकिन चुनाव के दरमियान पूरी चुनावी रणनीति दाऊ ज्ञान सिंह ने रची। उन्होंने अपने पुराने अनुभव और पुराने अपने साथियों को बुलाकर जिम्मेदारी सौंपते हुए कहा कि इस बार फिर यह मानकर कि चुनाव शिवनारायण नहीं बल्कि मैं स्वयं लड़ रहा हूं पूरी मेहनत और लगन के साथ चुनाव जीतने के प्रयास मैं लग जाने की बात कही गई।

Umaria News: बीजेपी के शिवनारायण की ऐतिहासिक जीत ने सभी को चौका दिया,यहां जानिए कैसे हुआ उलटफेर

हालांकि स्वयं दाऊ ज्ञान सिंह खुद एक बड़े रणनीतिकार हैं। उनके बारे में कहा जाता है कि जब पार्टी किसी संकट में रहती थी या फिर कोई चुनाव जीतना होता था तब पार्टी इन्हीं को उस जगह से चुनाव लड़ा कर चुनाव जीत लिया जाता था। लेकिन यहां पर हम बात किसी और की कर रहे जो इस पूरे चुनाव के दौरान चाहे उसे फ्रंटलाइन में कहें या बाइक लाइन पूरे चुनाव के दौरान हर जगह पहुंचकर जी तोड़ मेहनत करने वाले भाजपा के वरिष्ठ नेता शंभूलाल खट्टर की मेहनत रंग लाई है। हालांकि उनके बारे में यह कहा जाता है कि उमरिया नगर और उससे लगे आसपास के ग्रामीण अंचलों में उनका काफी दखल माना जाता है।

Umaria News: बीजेपी के शिवनारायण की ऐतिहासिक जीत ने सभी को चौका दिया,यहां जानिए कैसे हुआ उलटफेर

लेकिन इस बार कहीं न कहीं उनका नाम पूरे बांधवगढ़ विधानसभा क्षेत्र में नाम सुनाई देता है। पूरे चुनाव के दौरान जिस तरीके से कांग्रेस के पक्ष में माहौल निर्मित हुआ था इससे सभी ससंकित रहे हैं। लेकिन एक अच्छी रणनीति के तहत किया गया प्रयास सफल हो गया है। इसमें सबसे प्रमुख यह बात रही की उमरिया नगर जहां से कांग्रेस हमेशा आगे रहा करती थी, इस बार 600 वोट से पीछे रही है। यानी इस बार भाजपा को 600 वोट से बढ़त मिली है। इसके अलावा उमरिया नगर से लगे चारों तरफ के ग्रामीण इलाकों में भाजपा को जबरदस्त बढ़त मिली है।

Umaria News: बीजेपी के शिवनारायण की ऐतिहासिक जीत ने सभी को चौका दिया,यहां जानिए कैसे हुआ उलटफेर

चुनाव के दौरान इन पूरे इलाकों में भाजपा नेता शंभूलाल खट्टर ने जिस तरीके की मेहनत और रणनीति अपनाई है। निश्चित ही चुनाव में दिखे नतीजों का यही मुख्य कारण रहा है। इस दौरान जहां शंभूलाल ने लगातार इलाकों की मॉनिटरिंग करते रहे, वहीं भाजपा के कार्यकर्ताओं को भी एकजुट करके रखा। इसके अलावा उन्होंने पूरे बांधवगढ़ विधानसभा क्षेत्र के वरिष्ठ भाजपा नेताओं को भी पूरी तवज्जो और मान सम्मान देते हुए उनसे सहयोग लेते रहे हैं।

Umaria News: बीजेपी के शिवनारायण की ऐतिहासिक जीत ने सभी को चौका दिया,यहां जानिए कैसे हुआ उलटफेर

चुनाव में जिन इलाकों में शंभू लाल खट्टर का मुख्य रूप से प्रभाव रहा है, उसमें पूरा उमरिया शहर जहां उन्होंने मुख्य प्रभारी रहते हुए नगर को तीन प्रभारियो में बांट दिया था। इसके अलावा ग्रामीण इलाकों के लगभग दो दर्जन से ज्यादा गांव में सीधेतौर पर उनका दखल रहा है। शहर से लगे ग्रामीण इलाकों दिन में घंघरी, महिमार, बड़ेरी,सेवई,तखतपुर,खेरवा,कछरवार,धनवाहि, भरोला,लोढ़ा, लगवारी,चंदवार,कोयलारी, अमड़ी,गिंजरी,
उफरी,महरोई,किरणताल, ददरी,भगड़ा-लदेरा सहित अन्य गांव शामिल रहे हैं।

Umaria News: बीजेपी के शिवनारायण की ऐतिहासिक जीत ने सभी को चौका दिया,यहां जानिए कैसे हुआ उलटफेर

इन सभी इलाकों में भाजपा को अधिकतम वोट प्राप्त हुए है। इनमें ऐसा कोई गांव नहीं है जहां बीजेपी आगे ना रही हो। कई गांव ऐसे भी हैं जहां इसके पहले के चुनाव में कांग्रेस को वोट ज्यादा मिलते रहे हैं। लेकिन इस बार हर गांव में भाजपा ही आगे रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here