Umaria: जब राहुल गांधी ने चखा महुआ,आदिवासी महिला रामायणवती कोल ने समझाई राहुल को महुआ की विशेषता

0
584
उमरिया (संवाद)। शहडोल से सड़क मार्ग के माध्यम से उमरिया हवाई पट्टी पहुंचे कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रास्ते में सड़क किनारे महुआ फूल बीन रही ग्रामीण आदिवासी महिलाओं से न सिर्फ बातचीत की, बल्कि महुआ का स्वाद भी चखा है। इस दौरान एक आदिवासी महिला ने महुआ के बारे में राहुल गांधी को जानकारी दी है।

Umaria: जब राहुल गांधी ने चखा महुआ,आदिवासी महिला रामायणवती कोल ने समझाई राहुल को महुआ की विशेषता

दरअसल लोक सभा चुनाव के मद्दे नजर शहडोल संसदीय क्षेत्र के दौरे पर आए कांग्रेस नेता राहुल गांधी राष्ट्रीय विश्राम शहडोल में किया इसके बाद अलसुबह वह शहडोल से सड़क मार्ग होते हुए उमरिया हवाई पट्टी पहुंचे। जहां सड़क किनारे महुआ फूल बीन रही ग्रामीण आदिवासी महिलाओं को देखकर वह रुक गए। इस दौरान उन्होंने न सिर्फ ग्रामीण महिलाओं से बातचीत की बल्कि महुआ को जमीन से बीनकर उसका स्वाद भी चखा है।

Umaria: जब राहुल गांधी ने चखा महुआ,आदिवासी महिला रामायणवती कोल ने समझाई राहुल को महुआ की विशेषता

राहुल गांधी ने महिला महुआ संग्राहकों से महुआ फूल के बारे में बातचीत की है। इस दौरान वहां मौजूद आदिवासी महिला और आदिवासी वार्ड नंबर 5 की पार्षद रामायण वती कोल ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को महुआ की विशेषता के बारे में बताया है। रामायणवती ने बताया कि महिलाएं या पुरुष महुआ फूल बीनकर इसे सुखाते हैं। इसके बाद इसका उपयोग तमाम चीजों में किया जाता है। उसने बताया कि महुआ का लड्डू भी बनाया जाता है। जिससे लोग बड़े स्वाद से खाते हैं। कुछ स्वसहायता समूह लड्डू बनाकर बाजारों में बेचते हैं, यह बहूत ही पौष्टिक भी माना जाता है।

Umaria: जब राहुल गांधी ने चखा महुआ,आदिवासी महिला रामायणवती कोल ने समझाई राहुल को महुआ की विशेषता

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here