Singrauli: 6 फर्जी मास्साब हुए बर्खास्त,FIR के भी निर्देश,यहां जानिए इसकी मुख्य वजह

0
5527
सिंगरौली (संवाद)। मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले में फर्जी डिग्री लगाकर शासकीय शिक्षक की नौकरी हासिल करने का मामला सामने आया है। जिसमें 6 फर्जी शिक्षकों पर सेवा से बर्खास्त की कार्यवाही की गई है। दस्तावेज सत्यापन के बाद यह पूरा मसला सामने आया है। जिला शिक्षा अधिकारी ने सभी फर्जी टीचरों के खिलाफ एफआईआर कराने के दिए निर्देश है।

Singrauli: 6 फर्जी मास्साब हुए बर्खास्त,शासकीय शिक्षकों पर हुई कार्यवाही,फर्जी डिग्री लगाकर पाई थी नौकरी, FIR के भी निर्देश

जिले में डीएलएड की फर्जी अंक सूची लगाकर शासकीय शिक्षक की नौकरी पाने वाले 6 शिक्षकों के खिलाफ बर्खास्त की कार्यवाही की गई है जबकि उनके ऊपर फिर करने के निर्देश भी जिला शिक्षा अधिकारी एसबी सिंह के द्वारा दिया गया है। यह सभी शासकीय शिक्षक मध्य प्रदेश के राजगढ़ जिले के निवासी है जबकि शिक्षक बनने के बाद उनकी पहली पोस्टिंग सिंगरौली जिले में हुई थी। जिसमें साल भर के अंदर तीन शिक्षकों ने सिंगरौली से अपने गृह जिले राजगढ़ स्थानांतरण कर लिया था।

Singrauli: 6 फर्जी मास्साब हुए बर्खास्त,शासकीय शिक्षकों पर हुई कार्यवाही,फर्जी डिग्री लगाकर पाई थी नौकरी, FIR के भी निर्देश

लेकिन तीन शिक्षकों का स्थानांतरण किसी कारण बस नहीं हो सका। तब दस्तावेज सत्यापन के दौरान पूरे मामले का खुलासा हुआ है। इन शिक्षकों के द्वारा डीएलएड की फर्जी अंक सूची कर्नाटक राज्य के मैसूर से बनवाई गई थी। डिग्री में लिखें यूनिवर्सिटी के पते पर जब उनकी अंक सूची के सत्यापन के लिए भेजा गया, तब भी इनके द्वारा फर्जी तरीके से संस्थान का पत्र प्रस्तुत किया है।

Singrauli: 6 फर्जी मास्साब हुए बर्खास्त,शासकीय शिक्षकों पर हुई कार्यवाही,फर्जी डिग्री लगाकर पाई थी नौकरी, FIR के भी निर्देश

पूरे मामले का खुलासा होने के बाद जब यह तय हो गया कि इनकी डीएलएड की डिग्री फर्जी है और उनके द्वारा संस्थान के पत्र पर भी कूट रचित कृत्य किया गया है। इसी आधार पर 6 फर्जी शिक्षकों के खिलाफ सेवा से बर्खास्त की कार्यवाही की गई है। इसके अलावा उन सभी 6 शिक्षकों पर जिला शिक्षा अधिकारी सिंगरौली के द्वारा फिर कराने के निर्देश दिए गए हैं।

Singrauli: 6 फर्जी मास्साब हुए बर्खास्त,शासकीय शिक्षकों पर हुई कार्यवाही,फर्जी डिग्री लगाकर पाई थी नौकरी, FIR के भी निर्देश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here