MP News: विस चुनाव से पहले BJP में भगदड़,MLA वीरेंद्र रघुवंशी के बाद 55 साल से भाजपा में रहने के बाद भंवर सिंह शेखावत ने थामा कांग्रेस का दामन

0
611
भोपाल (संवाद)। मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव के ठीक पहले सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी मैं भगदड़ मची हुई है जहां बीजेपी से कोलारस से विधायक वीरेंद्र सिंह रघुवंशी के द्वारा भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देते हुए कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। वहीं 55 साल तक बीजेपी नेता के रूप में पहचान बन चुके पूर्व विधायक भंवर सिंह शेखावत भी कांग्रेस का दामन थाम लिया है। इसके अलावा बसपा नेता चंद्र भूषण बुंदेला (गुड्डू भैया) और प्रभुदयाल खटीक सहित लगभग एक दर्जन भाजपा नेता शनिवार को कांग्रेस में शामिल हो गए। कटनी से छेदीलाल पांडे, शिवम पांडे, शिवपुरी से अरविंद धाकड़, गुना से अंशू रघुवंशी, भिंड से केशव यादव और पूर्व गृह मंत्री उमाशंकर गुप्ता के भतीजे आशीष अग्रवाल गोलू, नर्मदापुरम से महेंद्र प्रताप सिंह सहित अन्य नेताओं ने भी कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।
सभी नेताओं के द्वारा कांग्रेस पार्टी का दामन थामने के मौके पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ ने कहा, ”हमें लोगों से माफी मांगने की कोई जरूरत नहीं है. हमारी 15 महीने की सरकार के दौरान, हमने गौशालाएं बनाईं, कृषि ऋण माफ किए और लोगों के कल्याण के लिए काम किया। हमने कोई पाप नहीं किया।” एमपी पीसीसी कार्यालय के सामने भारी भीड़ देखी गई। बसपा नेता चंद्र भूषण बुंदेला अपने सैकड़ों समर्थकों के साथ काफिले में एमपी पीसीसी कार्यालय पहुंचे। बीजेपी विधायक रघुवंशी भी कई गाड़ियों में अपने समर्थकों के साथ पहुंचे थे।

बुंदेला के कांग्रेस में घर वापसी से दिवंगत पिता होंगे खुश

बसपा नेता चंद्र भूषण बुंदेला बुंदेलखंड में काफी प्रभावशाली माने जाते हैं कांग्रेस पार्टी ज्वाइन करने के बाद उन्होंने कहा कि वह लंबे समय बाद घर लौट रहे हैं। उन्होंने कहा, “मेरे पिता स्वर्गीय सुजान सिंह बुंदेला खुश होंगे कि उनका बेटा गुड्डु वापस कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गया है।” उन्होंने दावा किया कि बुन्देलखंड से बीजेपी का सफाया हो जाएगा और एमपी में कमलनाथ की सरकार पूर्ण बहुमत से बनने वाली है।

भाजपा ने अपने मूल्यों सिद्धांतो को खो दिया

55 साल तक बीजेपी पार्टी के विभिन्न दायित्यों में रहने के बाद 72 वर्षीय भंवर सिंह शेखावत ने कहा, ”भाजपा ने मूल्यों और सिद्धांतों को खो दिया है। भाजपा को सींचने वाले नेताओं की उपेक्षा हो रही है। जिन लोगों को मैंने चुनाव में हराया, उन्हें 35-35 करोड़ रुपये में खरीदा गया।’ उन्होंने मुझे हराने के लिए काम किया। उन्होंने केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया पर भी हमला बोला. “सिंधिया और उनके समर्थकों के भाजपा में शामिल होने के बाद, पार्टी में भ्रष्टाचार और लूट चरम पर है। आज भाजपा का जमीनी स्तर का कार्यकर्ता निराश है।”

पार्टी में नए नेताओं के आने से हो रही उपेक्षा

कोलारस से बीजेपी विधायक वीरेंद्र रघुवंशी ने बीजेपी सरकार पर आरोप लगाया कि बीजेपी के मंत्री उन्हें लंबे समय से परेशान कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ”ज्योतिरादित्य के वफादार मंत्रियों ने यह सुनिश्चित किया कि मेरे निर्वाचन क्षेत्र में कोई काम न हो।” उन्होंने कहा कि जब से पार्टी में नए बीजेपी नेता आए, पुराने और वफादार नेताओं को नजरअंदाज कर दिया गया।जिसके कारण मजबूरी में उन्हें पार्टी छोड़ना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here