MP News: मप्र में एक जिला ऐसा भी जिसने रक्षाबंधन में किया नया कीर्तिमान स्थापित,यहां जानिए आखिर कैसे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड सहित अन्य कई अवार्ड में हुआ चयनित

0
434
भिण्ड (संवाद)। रक्षाबंधन के त्योहार पर मध्य प्रदेश के भिंड जिले में राखी का एक नया विश्व कीर्तिमान स्थापित किया गया है। यहां पर 340 मीटर लंबी राखी बनाकर सांकेतिक तौर पर बांधी गई है। इसके बाद इस राखी को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में भी दर्ज कर लिया गया है, और इसका सर्टिफिकेट भी राखी बनवाने वाले सारथी कस्ट्रेक्शन के मालिक भाजपा नेता अशोक भारद्वाज को दिया गया है।
वहीं गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के साथ ही एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, ओएमजी वर्ल्ड रिकॉर्ड्स, वर्ल्ड रिकॉर्ड ऑफ़ लंदन आदि के द्वारा भी इस राखी को विश्व की सबसे लंबी और बड़ी राखी के रूप में दर्ज किया गया है। राखी बनाने में लगभग 1 महीने का समय लगा।
दरअसल मध्यप्रदेश के भिंड जिले के मेहगांव में विश्व की सबसे बड़ी लंबी राखी बांधी गई है। यह राखी 340 मीटर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स द्वारा मापी गई है। अभी तक जो राखी का रिकॉर्ड था वह लगभग 808 फीट का था लेकिन भिंड में यह लगभग 11 सौ 15 फीट की राखी बनी है। बाकायदा गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के प्रतिनिधि द्वारा राखी निर्माता अशोक भारद्वाज और उनके गुरु दंदरौआ धाम महंत रामदास महाराज को सर्टिफिकेट दिया गया।
गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के साथ ही ओएमजी वर्ल्ड रिकॉर्ड्स, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, वर्ल्ड बुक ऑफ़ रिकार्ड्स लंदन आदि द्वारा भी विश्व की सबसे लंबी राखी का प्रमाण पत्र दिया गया है। इसके साथ ही लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के लिए भी एंट्री को भेजा गया है। इस राखी को बनाने का ठेका कोटा, दिल्ली और ग्वालियर से आए कारीगरों को दिया गया था। उन्होंने इस राखी का निर्माण किया। जो की लगभग 1115 फुट की बनाई गई, जबकि राखी के बीच का डायमीटर 25 फीट का था।
इसके साथ ही 15, 10, 5 और 2-2 फीट के अलग-अलग फूल भी बनाए गए थे। अपने पैरामीटर की तमाम जांच के बाद अलग-अलग संस्थाओं द्वारा उपलब्धि को अपनी बुक में दर्ज किया गया है। इस अवसर पर क्षेत्र की बहनों द्वारा भी अपने भाई अशोक भारद्वाज की कलाई पर राखी बांधी गई। इसके बाद इन बहनों को साड़ी देकर विदा किया गया। सभी वर्ल्ड बुक्स प्रतिनिधियों द्वारा मीडिया को इसके बारे में ब्रीफ जानकारी भी दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here