MP News:अतिथि शिक्षकों को सौगात:अब पीरियड नहीं बल्कि महीने के हिसाब से मिलेगी पेमेंट,शिक्षकों के मानदेय को किया दोगुना

0
696
भोपाल (संवाद)। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव  के दो महीने पूर्व प्रदेश के अतिथि शिक्षकों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कई सौगातें दी है। आज शनिवार को अतिथि शिक्षक महापंचायत के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अतिथि शिक्षकों के लिए मानदेय दोगुना करने और शिक्षकों को पीरियड के हिसाब से नहीं बल्कि महीने की तनख्वाह के हिसाब से मानदेय दिया जाएगा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अतिथि शिक्षकों के लिए बुलाई गई महापंचायत में कई अनेकों घोषणा की है।
दरअसल मध्य प्रदेश में नवंबर दिसंबर 2023 के मध्य विधानसभा के चुनाव होने हैं ऐसे में सत्ता में बने रहने के लिए बीजेपी सरकार और उसके मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ऐसी कोई भी कसर नहीं छोड़ना चाहते जिससे वह सत्ता से बाहर हो जाए। वही प्रदेश के कर्मचारी अपने विभिन्न मांगो को लेकर भी लगातार आंदोलित हैं, और वह भी चुनाव से पूर्व अपनी समस्याओं और फायदे के लिए कोई भी कसर नहीं छोड़ना चाहते।
 
आज शनिवार को भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में आयोजित अतिथि शिक्षकों की महापंचायत में प्रदेश से लगभग 10 हजार से ज्यादा अतिथि शिक्षक सम्मिलित हुए, इस दौरान महापंचायत में पहुंचे मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अतिथि शिक्षकों के लिए अनेकों घोषणाए की है। महापंचायत में प्रत्येक जिले से 50 शिक्षकों को बुलाया गया था जिसमें स्कूल शिक्षा विभाग और जनजाति कार्य विभाग के द्वारा संचालित स्कूलों के लगभग 60 हजार से ज्यादा शिक्षक सम्मिलित हुए।

अतिथि शिक्षकों का मानदेय किया दोगुना

 
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आयोजित अतिथि शिक्षक महापंचायत में घोषणा करते हुए कहा कि अतिथि शिक्षकों को अब पीरियड के हिसाब से नहीं बल्कि मासिक आधार पर मानदेय दिया जाएगा। वहीं उन्होंने अतिथि शिक्षकों के मानदेय को भी दोगुना कर दिया है। जिसमें वर्ग-1 के लिए ₹9000 से बढ़कर 18000 रुपए, वर्ग-2 के लिए 7000 से बढ़कर ₹14000 और वर्ग-3 के लिए ₹5000 से बढ़कर ₹10000 महीना करने की घोषणा की है। इसके अलावा अब अतिथि शिक्षकों का कार साल भर के लिए किया जाएगा।

भर्ती में अतिथि शिक्षकों को 50% आरक्षण

महापंचायत में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा करते हुए बताया कि नवीन शिक्षकों की भर्ती में अब अतिथि शिक्षकों को 25 प्रतिशत की जगह 50% का आरक्षण दिया जाएगा, यह व्यवस्था जल्द ही नियम बनाकर लागू की जाएगी। इसके अलावा अतिथि शिक्षकों को उच्च शिक्षा भारती में प्रतिवर्ष कर और अधिकतम 20 अंक बोनस के रूप में दिए जाएंगे जिससे उनका चयन अधिक से अधिक हो सके। अतिथि शिक्षक महापंचायत में सीएम शिवराज ने अतिथि शिक्षकों के योगदान को सराहते हुए कहा कि जब नियमित शिक्षक नहीं थे, तो आपको अतिथि शिक्षक के रूप में पढ़ाने का दायित्व सौंपा गया। आप वो हैं, जिन्होंने शिक्षा की गाड़ी को आगे बढ़ाया। बच्चों को आप गांव-गांव में पढ़ाते रहे। मैं आपको इसके लिए हृदय से धन्यवाद प्रेषित करता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here