मिनी रोटावेटर पर किसान ले रहे भरपूर सब्सिडी ,जाने क्या है आवेदन प्रक्रिया

0
110
mini rotavator

मिनी रोटावेटर पर किसान ले रहे भरपूर सब्सिडी जाने क्या है आवेदन प्रक्रिया वर्तमान समय में खेत की जुताई के लिए आधुनिक औजारों का प्रयोग किया जा रहा है. खेती की ज्यादातर काम ट्रेक्टर की मदद से किये जाते है. खेतो की जुताई के लिए रोटावेटर का प्रयोग किया जाता है. अगर आपके पास भी ट्रेक्टर है और आप भी अगर अच्छे रोटावेटर की तलाश में है तो आज हम लेकर आये है आपके लिए मिनी रोटावेटर की सम्पूर्ण जानकारी जिसमे की आपको सब्सिडी दी जा रही है. आइये इस खबर के माध्यम से और जानकारी को प्राप्त करते है .

यह भी पढ़िए :- पावरफुल इंजन और इन दमदार फीचर्स के साथ बाजार में पेश हुई Honda Hornet Bike 2.0, जाने क्या है कीमते

क्या है मिनी रोटावेटर

मिनी रोटावेटर, रोटावेटर का ही छोटा रूप है. ये हूबहू रोटावेटर की तरह ही काम करता है. लेकिन इसकी खास बात ये है की मिनी रोटावेटर वजन में काफी हल्के और आकार में छोटे होते है, जिससे की इन्हे हम कही भी आसानी से ले जा सकते है. इसके द्वारा खेती सम्बंधित कई प्रकार के छोटे-मोटे काम आसानी से किए जा सकते है. इससे किसान जुताई के साथ कटाई का भी काम आसानी से कर सकता है. देश में ज्यादातर किसान इसका उपयोग सब्जी वाली फसलों, बागवानी फसलों और गन्ने की फसल में करते है.

मिनी रोटावेटर पर किसान ले रहे भरपूर सब्सिडी जाने क्या है आवेदन प्रक्रिया

मिनी रोटावेटर के उपयोग से होने वाले लाभ

मिनी रोटावेटर से आपको बहुत सारे लाभ होने वाले है. जिसमे की आप इससे किसी भी प्रकार की मिट्टी की जुताई की जा सकती है. इसके द्वारा मुख्यतः गन्ना, कपास, केला और ज्वार आदि के लिए भूमि की तैयारी की जा सकती है. साथ ही ये मिटटी को तुरंत तैयार करके उसमे नमी को बनाये रखता है. इसके प्रयोग से 15 से 35 प्रतिशत तक ईंधन की बचत की जा सकती है. यह शुष्क और गीले क्षेत्रों में भी आसानी और कुसलाता से कार्य कर सकता है. इसका उपयोग आप 125 मिमी -1500 मिमी की गहराई तक की मिट्टी के जुताई के लिए कर सकते है. इससे काम समय में बीजो को बोया जा सकता है. बाकि यंत्रो के मुकाबले इसको जुताई करने मे कम समय लगता है. इसका उपयोग खेत में पिछली फसलों के अवशेषों को हटाने में भी किया जाता है.

मिनी रोटावेटर पर कितनी मिलती है सब्सिडी

सरकार द्वारा चलायी जा रही कृषि यंत्र अनुदान योजना के तहत किसानो को रोटावेटर की खरीद पर 50 प्रतिशत तक सब्सिडी दी जाती है. ये सब्सिडी हर राज्य में अलग-अलग होती है. सब्सिडी की जानकारी के लिए आप अपने जिले या ब्लॉक स्तर के कृषि विभाग के कार्यालय पर जाकर संपर्क कर सकते हैं.

मिनी रोटावेटर पर किसान ले रहे भरपूर सब्सिडी जाने क्या है आवेदन प्रक्रिया

देश की प्रमुख मिनी रोटावेटर निर्माता कंपनियां

भारत में मुख्यतः बारह कंपनियों के रोटावेटर ज्यादा चलते है. जो की कुछ इस प्रकार है.

1. महिंद्रा मिनी रोटावेटर
2. शक्तिमान मिनी रोटावेटर
3. किर्लोस्कर मिनी रोटावेटर
4. सोनालिका मिनी रोटावेटर
5. फिल्डकिंग मिनी रोटावेटर
6. गरुड़ मिनी रोटावेटर
7. यूनिवर्सल मिनी रोटावेटर
8. लैंडफोर्स मिनी रोटावेटर
9. खेदूत मिनी रोटावेटर
10. वीएसटी मिनी रोटावेटर
11. सॉइल मिनी रोटावेटर
12. कैप्टन मिनी रोटावेटर

यह भी पढ़िए :-  Samsung की धज्जिया उड़ा रहा Vivo का शानदार स्मार्टफोन, दमदार बैटरी के साथ जाने कीमत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here