BJP के वरिष्ठ नेता अजय प्रताप सिंह ने भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से दिया इस्तीफा,पार्टी में मची खलबली,पार्टी पर लगाए गंभीर आरोप

0
1233
सीधी (संवाद)। मध्यप्रदेश के बीजेपी के वरिष्ठ नेता पूर्व राज्यसभा सदस्य अजय प्रताप सिंह ने भारतीय जनता पार्टी के प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दिया है। उन्होंने पार्टी पर सवाल खड़े किए हैं उनका मानना है कि पार्टी के कथन और करनी में अंतर है। अजय प्रताप सिंह इस बार के लोकसभा चुनाव में सीधी लोकसभा से टिकट मांग रहे थे।

BJP के वरिष्ठ नेता अजय प्रताप सिंह ने भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से दिया इस्तीफा,पार्टी में मची खलबली,पार्टी पर लगाए गंभीर आरोप

मध्य प्रदेश के सीधी जिले के निवासी अजय प्रताप सिंह के द्वारा भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दिया जाना चिंता का विषय है उनके द्वारा इस्तीफा के बाद पूरे पार्टी में सनसनी मच गई है अजय प्रताप सिंह का मानना है कि भारतीय जनता पार्टी के कटनी और करनी में अंतर है।

BJP के वरिष्ठ नेता अजय प्रताप सिंह ने भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से दिया इस्तीफा,पार्टी में मची खलबली,पार्टी पर लगाए गंभीर आरोप

 

वरिष्ठ भाजपा नेता अजय प्रताप सिंह भारतीय जनता पार्टी में 35 वर्षों तक शामिल रहे हैं। इस दौरान वह विंध्य विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष और राज्यसभा सदस्य रहे हैं। इस बार के 2024 के लोकसभा चुनाव में वह सीधी लोकसभा क्षेत्र से उम्मीदवारी कर रहे थे लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिला इसी बात से नाराज होकर उन्होंने बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है।

BJP के वरिष्ठ नेता अजय प्रताप सिंह ने भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से दिया इस्तीफा,पार्टी में मची खलबली,पार्टी पर लगाए गंभीर आरोप

हालांकि अजय प्रताप सिंह को सिद्ध लोकसभा से टिकट नहीं दिए जाने के कारण इस्तीफा दिए जाने का कारण प्रमुख है लेकिन शायद इसके अलावा भी कुछ और कारण सामने आ सकते हैं वही उन्हें पार्टी ने कई महत्वपूर्ण जिम्मेदारी के पद में नियुक्त किया था। उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के नाम अपना इस्तीफा अपने लेटर पैड में भेजा है।

BJP के वरिष्ठ नेता अजय प्रताप सिंह ने भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से दिया इस्तीफा,पार्टी में मची खलबली,पार्टी पर लगाए गंभीर आरोप

MP: 29 पुलिस के राप्रसे अफसरों के तबादले,एक बार फिर वापस उमरिया लौटे सूबेदार अमित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here