Bhind: फर्जी पुलिस इंस्पेक्टर बनकर कर रहा था ठगी,अपने को पुलिस कमिश्नर का बताता था खास,पुलिस ने गिरफ्तार कर सामने लाई उसकी असलियत

0
469
भिंड (संवाद)। पुलिस ने एक ऐसे फर्जी पुलिस सब इंस्पेक्टर को गिरफ्तार किया है जो भोपाल पुलिस कमिश्नर के नाम पर फोर्स मांगकर अपना रौब झाड़ता था। फिर ट्रांसफर के नाम पर मोटी रकम लेकर ठगी करता था। पकड़ा गया आरोपी उत्तर प्रदेश के एक जेलर को अपना निशाना बनाने की तैयारी कर रहा था। लेकिन वह पकड़ा गया। पुलिस ने इसके द्वारा ठगी करने के तीन मामले का भी खुलासा किया है। यह युवक फर्जी पुलिस इंस्पेक्टर बनकर मध्य प्रदेश के ग्वालियर राजधानी भोपाल और उत्तर प्रदेश की जालौन जिले में ठगी की घटना को अंजाम दिया है।

Bhind: फर्जी पुलिस इंस्पेक्टर बनकर कर रहा था ठगी,अपने को भोपाल पुलिस कमिश्नर का बता रहा था खास,पुलिस ने गिरफ्तार कर सामने लाई उसकी असलियत

दरअसल भिण्ड पुलिस कंट्रोल रूम में पदस्थ प्रधान आरक्षक अरुण दीक्षित के पास कंट्रोल रूम के नंबर पर एक कॉल आया था। सामने वाले व्यक्ति ने अपने आप को सब इंस्पेक्टर वीरेंद्र सिंह बताते हुए बताया कि वह भोपाल पुलिस कमिश्नर हरि नारायण चारी मिश्रा के ऑफिस में पदस्थ है। उसने ऊमरी थाना प्रभारी, एचसीएम और डीएसपी हेडक्वार्टर का नंबर भी लिया। साथ ही उसने गनर भेजने की मांग की। इस पर पुलिस कंट्रोल रूम में पदस्थ प्रधान आरक्षक दीक्षित को शंका हुई। वहीं हेडक्वार्टर डीएसपी ने भी कंट्रोल रूम फोन लगाकर उस व्यक्ति के बारे में पता लगाने के लिए कहा।

Bhind: फर्जी पुलिस इंस्पेक्टर बनकर कर रहा था ठगी,अपने को भोपाल पुलिस कमिश्नर का बता रहा था खास,पुलिस ने गिरफ्तार कर सामने लाई उसकी असलियत

भिंड पुलिस कंट्रोल रूम से पता लगाने पर जानकारी मिली कि भोपाल पुलिस कमिश्नर हरि नारायण चारी मिश्रा के यहां इस नाम का कोई व्यक्ति नहीं है। इस पर सायबर सेल प्रभारी दीपेंद्र यादव को उक्त व्यक्ति को पकड़ने की जिम्मेदारी दी गई। करीब दो घंटे बाद ही दोपहर 12 बजे पुलिस ने उसे पकड़ लिया। पकड़े गए आरोपी का नाम अंकित परिहार है जो उत्तर प्रदेश के सहसो थाना क्षेत्र के पिपरौली गांव का रहने वाला है।

Bhind: फर्जी पुलिस इंस्पेक्टर बनकर कर रहा था ठगी,अपने को भोपाल पुलिस कमिश्नर का बता रहा था खास,पुलिस ने गिरफ्तार कर सामने लाई उसकी असलियत

भिंड जिले के देहात थाना पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध केस दर्ज कर मामले को जाँच में ले लिया है। वहीं जब देहात थाना पुलिस के द्वारा पकड़े युवक की कुंडली खंगाली तो पता चला कि वह इस तरह की हरकत उत्तरप्रदेश के जालौन, ग्वालियर और भोपाल में भी कर चुका है। भोपाल में अपराध दर्ज होने के बाद भोपाल पुलिस भिंड पहुची ओर आरोपी को हिरासत में लेकर भोपाल वापस गई है।

Bhind: फर्जी पुलिस इंस्पेक्टर बनकर कर रहा था ठगी,अपने को भोपाल पुलिस कमिश्नर का बता रहा था खास,पुलिस ने गिरफ्तार कर सामने लाई उसकी असलियत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here