Bandhavgarh: वन्य प्राणी चीतल के शिकार मामले में मुख्य आरोपी ग्राम सचिव गिरफ्तार,बंगाली डॉक्टर सहित दो फरार

0
1513
उमरिया (संवाद)। जिले के विश्व प्रसिद्ध बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व में होली के एक दिन पहले पनपथा बफर में चीतल के शिकार मामले में ग्राम सचिव राघवेंद्र पिता नागेश्वर प्रताप सिंह निवासी उमरिया-बकेली उम्र लगभग 50 वर्ष को गिरफ्तार किया गया है।यह पहला मौका होगा जब किसी शासकीय कर्मी को शिकार मामले में बांधवगढ टीम ने दबोचा है। वही बंगाली डॉक्टर और दो अन्य आरोपी फरार बताए गए हैं।

Bandhavgarh: वन्य प्राणी चीतल के शिकार मामले में मुख्य आरोपी ग्राम सचिव गिरफ्तार, बंगाली डॉक्टर सहित दो फरार

इस पूरे मामले को बांधवगढ प्रबन्धन ने विधिवत लिखित आदेश देकर एसटीएफ को सौंपा है जो आगे मामले की जांच और आरोपियों के गिरफ्तारी कर सकेगा।मुखबिर की सूचना पर शिकार मामले में बांधवगढ टीम की इस कार्यवाही से समूचा गांव ग्राम सचिव की गिरफ्तारी से हैरान है।एसटीएफ एवम पार्क टीम की इस संयुक्त कार्यवाही में आरोपी के घर से अवैध पिस्टल,बंदूक भी मिलने की खबर है।

Bandhavgarh: वन्य प्राणी चीतल के शिकार मामले में मुख्य आरोपी ग्राम सचिव गिरफ्तार, बंगाली डॉक्टर सहित दो फरार

बताया गया कि गिरफ्तार आरोपी ग्राम सचिव की निशानदेही पर शिकार मामले में दो स्थानीय आरोपी बापी विश्वास (बंगाली डॉक्टर) उम्र 38 वर्ष और भागवत पिता रामनाथ साहू उम्र 35 वर्ष के ऊपर भी नामजद मामला दर्ज किया गया है। विभाग और एसटीएफ की छापा मारा कार्यवाही की भनक लगते ही ये दोनो आरोपी मुकेश से फरार होने में सफल हो गए।

Bandhavgarh: वन्य प्राणी चीतल के शिकार मामले में मुख्य आरोपी ग्राम सचिव गिरफ्तार, बंगाली डॉक्टर सहित दो फरार

बता दे कि होली के एक दिन पहले बकेली गांव से सटे पनपथा बफर क्षेत्र में आरोपियों ने चीतल का शिकार किया था,इस मामले की जानकारी बांधवगढ प्रबन्धन को मुखबिर द्वारा मिली थी,जिसके बाद से ही बीटीआर टीम एक्टिव मोड पर थी और अंततः चीतर शिकार मामले का मुख्य आरोपी ग्राम सचिव राघवेंद्र प्रताप सिंह को गुरुवार की सुबह गिरफ्तार किया गया है।बीटीआर उपसंचालक पीके वर्मा ने शिकार मामले के दो अन्य आरोपियों के जल्द गिरफ्तारी की बात कही है।

Bandhavgarh: वन्य प्राणी चीतल के शिकार मामले में मुख्य आरोपी ग्राम सचिव गिरफ्तार, बंगाली डॉक्टर सहित दो फरार

गौरतलब है कि आरोपी ग्राम सचिव राघवेंद्र प्रताप सिंह उमरिया, बकेली एवम कोडरी पंचायत का ग्राम सचिव रहा है।अचार संहिता के दौरान अवैध रूप से रखे आर्म्स अपने आप मे बड़ा मामला है,इस पूरे मामले में यह भी जांच का विषय है कि आरोपी ग्राम सचिव के कब्जे में इतने आर्म्स कहा से आये और कब आये।

Bandhavgarh: वन्य प्राणी चीतल के शिकार मामले में मुख्य आरोपी ग्राम सचिव गिरफ्तार, बंगाली डॉक्टर सहित दो फरार

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here