Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत में पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि

0
81
Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि
Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि

Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि।अब बता दे आपको की सनातन धर्म में हर महीने ही कई महत्वपूर्ण व्रत व त्यौहार  मनाए जाते हैं। लेकिन ऐसे में 5 नवंबर को मनाए जाने वाले अहोई अष्टमी व्रत का भी विशेष पौराणिक महत्व है। और धार्मिक मान्यता के अनुसार बता दे कि इस व्रत को महिलाएं अपनी संतान की लंबी आयु के लिए रखती है। और साथ ही इस व्रत को यदि विधि-विधान के साथ किया जाए तो इससे सुख समृद्धि की प्राप्ति होती है।

Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत में पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि

Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि
Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत में पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि

यह भी देखे :- MP Election 2023: विधानसभा चुनाव कार्यालय उट्घाटन के पश्चात बीजेपी में दिखी गुटबाजी, ताई समर्थक ने क्यों नहीं लिया कैलाश विजयवर्गीय नाम

जानिए अहोई अष्टमी शुभ मुहूर्त

साथ ही बता दे पंडित आशीष शर्मा के मुताबिक, कार्तिक माह  के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि 05 नवंबर को देर रात 12.59 मिनट पर शुरू होगी और इस तिथि का समापन 06 नवंबर को देर रात 03.18 मिनट पर होगा। लेकिन इस पूजा के लिए शुभ समय शाम 05.42 मिनट से लेकर शाम 07 बजे का का रहेगा।

Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि
Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत में पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि

यह भी देखे :- Petrol Pump Apply: पेट्रोल पंप खोलने का सुनहरा मौका, होगी बंफर कमाई फटाफट करे अप्लाई 

Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत में पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि

और ऐसे करें अहोई अष्टमी व्रत में पूजा

लेकिन इस अहोई अष्टमी के दिन सुबहजल्दी ही स्नान करके व्रत का संकल्प लेना चाहिए। इस व्रत में पूरे दिन निर्जला व्रत का पालन करना चाहिए। लेकिन अहोई माता की मूर्ति का फोटो की स्थापना करने के बाद शाम को विधि-विधान के साथ पूजा करना चाहिए। माना गया हैं की अहोई माता को कुमकुम लगाने के बाद फूल अर्पित करें। घी का दीपक लगाने के अलावा हलवा, पूरी का भोग लगाना चाहिए। लास्ट  में आरती करने के बाद चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत का पारण करें। जिससे आपकी पूजा सफल मानी  जाती है।

Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि
Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत में पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि

यह भी देखे :- Umaria news सांप्रदायिक सद्भाव और जान माल की सुरक्षा के मद्देनजर धारा 144 लागू, कलेक्टर ने 5 अक्टूबर तक जिले भर में लगाई निषेधाज्ञा

जानिए अहोई अष्टमी का धार्मिक महत्व

लेकिन इस अहोई अष्टमी का व्रत करने से संतान की लंबी उम्र  होती है और परिवार में सुख-समृद्धि आती है। साथ ही इस व्रत में माता अहोई की पूजा की जाती है। और जिन महिलाओं को बार-बार गर्भपात हो जाता है।  उन्हें जरुरु  ये व्रत रखना चाहिए। पौराणिक मान्यता है कि इस व्रत को करने से गर्भधारण करने में आ रही समस्या दूर हो जाती है।

यह भी देखे :- Chhattisgarh Assembly Election 2023: चुनाव आयोग पहुंची कांग्रेस, और निर्वाचन कार्यालय में की रिपोर्ट जानिए इसे बारे सब कुछ 

Ahoi Ashtami: अहोई अष्टमी को करे संतान के लंबी आयु के लिए शुभ मुर्हत में पूजा, माता की होगी कृपा दृष्टि

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here