“होइहैं वही जो राम रचि राखा, श्रीरामलला के प्राण प्रतिष्ठा में कांग्रेस के नही जाने के फैसले पर बीजेपी का पलटवार

0
265
भोपाल (संवाद)। 22 जनवरी को अयोध्या में नवनिर्मित राम मंदिर में राम लला विराजमान होंगे, इसके लिए जहां युद्ध स्तर पर तैयारी चल रही हैं। वहीं देश भर में इसे लेकर एक भक्तिमय माहौल निर्मित है। आयोजन समिति के द्वारा देशभर के अतिथियों को बुलावा भेजा जा रहा है। इसके अलावा भी लोग रामलला की प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर उनके दर्शन करने अयोध्या जाने का प्लान बनाए हुए हैं। इस बीच कांग्रेस नेता सोनिया गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे और अधीर रंजन के रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के निमंत्रण को अस्वीकार करते हुए अयोध्या नहीं जाने के फैसले से बीजेपी ने जमकर हमला बोला है।

“होइहैं वही जो राम रचि राखा, श्रीरामलला के प्राण प्रतिष्ठा में कांग्रेस के नही जाने के फैसले पर बीजेपी का पलटवार

कांग्रेस के इस फैसले के बाद मध्यप्रदेश के हुजूर सीट से भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने कहा कि जिस तरह रावण के द्वारा हठ की गई थी और उसका नामों निशान मिट गया, इस तरह कांग्रेस का श्रीराम का विरोध हठ कांग्रेस को देश से हटा देगा। उन्होंने कहा कि देशभर के श्री राम भक्तों को भरोसा रहा है कि राम मंदिर उन्हीं भक्तों के द्वारा बनाया जाएगा। इसके लिए ना जाने कितनों ने अपने प्राणों की आहुति दी है। लेकिन आज जब राम मंदिर बनकर तैयार हो गया है इस पर भी कांग्रेस को राजनीति दिखाई दे रही है जबकि आयोजन समिति के द्वारा देश भर के सभी प्रमुख लोगों को निमंत्रण भेजा जा रहा है।

“होइहैं वही जो राम रचि राखा, श्रीरामलला के प्राण प्रतिष्ठा में कांग्रेस के नही जाने के फैसले पर बीजेपी का पलटवार

लेकिन बड़े दुर्भाग्य की बात है कि कांग्रेस पार्टी के अंदर श्री राम का विरोध पहले की तरह अब भी है। श्री शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के लोग श्री राम को काल्पनिक मानते रहे हैं और जब उनका राम मंदिर बन गया तब भी उन्हें खटक रहा है। ऐसे लोग श्री राम और राम मंदिर के अस्तित्व पर सवाल खड़ा करना चाहते हैं वैसे यह बात जमाने से सच होती आई है कि जब श्री राम का आशीर्वाद होगा तभी लोग उनके दर्शन पा सकेंगे। उनकी आज्ञा और आशीर्वाद के बिना कुछ भी संभव नहीं है। कहते हैं “हुईहै वही जो राम रुचि राखा”।

“होइहैं वही जो राम रचि राखा, श्रीरामलला के प्राण प्रतिष्ठा में कांग्रेस के नही जाने के फैसले पर बीजेपी का पलटवार

कांग्रेस के नेता सोनिया गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे और अधीर रंजन ने 22 जनवरी को अयोध्या के राम मंदिर में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा में जाने को लेकर कहा था कि यह आयोजन संघ और आरएसएस के लोगों का है, इसलिए उनके द्वारा इस कार्यक्रम में शामिल नहीं होने का फैसला लिया गया है।

“होइहैं वही जो राम रचि राखा, श्रीरामलला के प्राण प्रतिष्ठा में कांग्रेस के नही जाने के फैसले पर बीजेपी का पलटवार

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here