संघ की शरण मे शिवराज सरकार,क्या कुछ होने वाला है सस्पेंस बरकरार

0
493
एमपी (संवाद)। बगैर किसी को कुछ बताये मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने मंत्रिमंडल के सभी मंत्रियों को 19 फरवरी के दिन सुबह से राजधानी भोपाल में रहने का फरमान जारी किया है। इसके बाद अचानक इस बुलावे को लेकर प्रदेश में सियासी हलचल मच गई है। सभी के मन में बस यही सवाल उठ रहा है कि आखिर क्या वजह हो गई की अचानक यह फरमान जारी किया गया है। वही प्रदेश में सियासत चर्चा है कि हो सकता है सरकार में मंत्रिमंडल का विस्तार और निगम मंडलों के अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर यह बुलावा हो।
दरअसल इसी हफ्ते बुधवार को संघ प्रमुख मोहन भागवत के अचानक बुलावे पर वह नागपुर स्थित संघ मुख्यालय पहुंचे हुए थे। इस दौरान उनके बीच काफी देर चर्चा के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान वहां से सीधे रीवा जिले में हवाई अड्डा के लोकार्पण कार्यक्रम में पहुंचे हुए थे। इसके साथ ही उनके द्वारा सरकार के सभी मंत्रियों को 19 फरवरी कि सुबह से लेकर शाम- रात तक हर हालत में राजधानी भोपाल में रहने का निर्देश जारी किया गया है। इसके बाद से सियासी गलियारों में खलबली मची हुई है लोगों की अपनी अलग-अलग सोच है जिसमें कुछ ने कहा कि इस अचानक गुलाबी के पीछे की वजह मंत्रिमंडल का विस्तार और निगम मंडलों के अध्यक्षों की नियुक्ति की वजह हो सकती है वही कुछ का कहना है कि कुछ दिनों से पूरे प्रदेश के हर जिले हर विधानसभा में सरकार के द्वारा विकास यात्रा निकाली जा रही है। जिसमें सरकार के मंत्री और विधायकों को जनता की नाराजगी झेलनी पड़ी है। कई जिलों में जनता ने नाराजगी जाहिर करते हुए विधायकों के ऊपर तमाम आरोप लगाए हैं जिसको लेकर संघ अपनी रिपोर्ट तैयार कर रहा है।
निश्चित रूप से आगामी 8 महीने में मध्य प्रदेश में विधानसभा के चुनाव होने हैं ऐसे में संघ की नजर सरकार की हर गतिविधियों पर है। खासकर प्रत्याशी चयन को लेकर संघ की अपनी अलग राय है। वही विकास यात्रा के दौरान कई जिलों में जनता के द्वारा विधायकों का विरोध को भी संघ अपने नजरिया से देखता है और आने वाले चुनाव में जिन जिलों में या जिन विधानसभा सीटों में मौजूदा विधायको का जनता ने जिस तरीके से विरोध किया है, संघ के द्वारा चुनाव में उनके टिकट को लेकर भी नए फैसले कर सकता है। हालांकि सरकार के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस बैठक मे कुछ भी फेरबदल होने से इनकार किया है। बैठक में शामिल होने संघ पदाधिकारी भोपाल स्थित समिधा पहुंच चुके हैं। जहां सरकार के विधायक और मंत्री भी उनसे मिलने पहुंच रहे हैं। देखना होगा कि आखिरकार इस बैठक में संघ और सरकार के बीच किन मुद्दों को लेकर चर्चा होती है और क्या नतीजे निकलते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here