यहां सरकारी अस्पताल मुर्दों को करते है रिफर, फिर प्राइवेट हॉस्पिटल करते है मुर्दे का इलाज

0
785
हीरा  विश्वकर्मा,कटनी (संवाद)। आपने हमेशा देखा और सुना होगा कि डॉक्टर या कोई भी अस्पताल जिंदा बीमार व्यक्ति का इलाज करते है।लेकिन आपने पहली बार सुना होगा किसी मुर्दे का इलाज किया गया है और उस मुर्दे को बकायदा रिफर भी किया गया है।
जी हां यह बात कोई कहानी नही, बल्कि सोला आने सच है जहां उमरिया जिले के चंदिया निवासी प्रदीप विश्वकर्मा अपनी पत्नी श्रीमती लक्ष्मी विश्वकर्मा को डिलीवरी के दौरान आई परेशानी को लेकर उमरिया जिले से कटनी के लिए रेफर कराया था। जहां उन्होंने पहले कटनी जिले के जिला चिकित्सालय मे मरीज को भर्ती कराया। लेकिन वहां उन्हें डॉक्टरों की कार्यशैली समझ नहीं आने के बाद उन्होंने अपने मरीज का रेफर करा लिया, जिसके बाद परिजन मरीज को लेकर स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर रूपा लालवानी के हॉस्पिटल लेकर पहुंचे। वहां भी मरीज का इलाज किया गया जहां मरीज के कई टेस्ट करा कर दवाइयों की पर्ची दी गई और कहा गया कि यह दवाइयां लेकर आओ। मरीज के परिजन अपने मरीज कि किसी कदर जान बचाना चाहते थे जिसके लिए वह डॉक्टर की हर बात मानने तैयार थे।
लेकिन कुछ क्षणों बाद जब स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर रूपा लालवानी और उनके हॉस्पिटल का स्टाफ गायब हो गया। तब कहीं जाकर मरीज के परिजनों को पता चला कि उनके मरीज की मौत काफी समय पहले हो गई है। यह जानकर परिजनों के सब्र का बांध फूट गया और परिजन हंगामा करने लगे। इस दौरान वहां उन्हें जवाब देने ना तो कोई स्टाफ आया और ना ही डॉक्टर। परिजनों ने आरोप लगाया है कि उनके मरीज की मौत कटनी के सरकारी अस्पताल में ही हो गई थी। लेकिन शासकीय डॉक्टरों की लापरवाही ने उन्हें इससे अनजान रखा और मृत मरीज को रेफर कर दिया गया।
वही स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर रूपा लालवानी ने भी मृत मरीज का इलाज शुरू कर दिया जिसके लिए बकायदा उन्होंने दवाइयों की पर्ची भी लिखी है। परिजनों का आरोप है कि पहले शासकीय हॉस्पिटल में लापरवाही बरतने से उनके मरीज की मौत हो गई। लेकिन वह अपना पल्ला झड़ते हुए मरीज को ऑक्सीजन लगाकर रेफर कर दिया गया। लेकिन यहां प्राइवेट हॉस्पिटल भी अपनी कमाई की आड़ में मृत मरीज का भी इलाज शुरू कर दिया है। परिजनों के द्वारा हंगामे के बाद पुलिस में भी शिकायत दर्ज कराई गई है कि उनके साथ डॉक्टरों ने लापरवाही बरती है।वही पुलिस का कहना है कि उनके द्वारा संबंधित डॉक्टरों से संपर्क किया गया है लेकिन वह नहीं मिल सके हैं और उनका मोबाइल भी बंद बता रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here