मीडिया की सुर्खियों में रहे जिला जेल के मामले में आया नया मोड़,यहाँ जानिए इसकी पूरी कहानी

0
1080
Umaria (संवाद)। बीते तीन-चार दिन पहले मीडिया में सुर्खियां बने जिला जेल में पिस्तौल और सुरंग की कहानी ने नया मोड़ ले लिया है। मामले की जानकारी के बाद जिला जेल के अधीक्षक डीके सारस ने इस मामले स्पष्टीकरण देते हुए इसे गंभीरता से लेने की बात कही है। इतना ही नहीं इससे जुड़े हुए लोगों को नोटिस देकर स्पष्टीकरण का जवाब मांगा है इसके बाद पूरे मामले की जांच कराकर कार्यवाही की जाने की बात कही है।

Umaria News: मीडिया की सुर्खियों में रहे जिला जेल के मामले में आया नया मोड़,यहाँ जानिए इसकी पूरी कहानी

दरअसल तीन-चार दिन पहले जिला जेल उमरिया में विचाराधीन कैदी गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के नेता राधेश्याम ककोड़िया से बातचीत का एक ऑडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद मीडिया में काफी सुर्खियों में रहा है।चूंकि जेल में बंद राधेश्याम काकोड़िया गोंडवाना गणतंत्र पार्टी से जिले की मानपुर विधानसभा के प्रत्याशी घोषित किया गया हैं। इस दौरान उनकी अपने कार्यकर्ता और वकील से काफी लंबी लगभग 12 मिनट की बातचीत का ऑडियो वायरल हो गया।

Umaria News: मीडिया की सुर्खियों में रहे जिला जेल के मामले में आया नया मोड़,यहाँ जानिए इसकी पूरी कहानी

वायरल ऑडियो में जिस तरीके से राधेश्याम काकोड़िया और गोंडवाना पार्टी के बीच हुई बातचीत में कई गंभीर बातें सामने आई जिसमें राधेश्याम का ककोड़िया की जेल प्रबंधन के द्वारा पूरी मदद किए जाने सहित तमाम कई गंभीर बातें हुई थी। हालांकि जब ऑडियो वायरल हुआ तब यह कयास लगाए जा रहे थे कि जेल के अंदर से काकोड़िया के द्वारा मोबाइल के माध्यम से बात करने का अंदेशा जताया गया था, मतलब यह है कि उसे जेल के अंदर मोबाइल उपलब्ध कराया गया है।

Umaria News: मीडिया की सुर्खियों में रहे जिला जेल के मामले में आया नया मोड़,यहाँ जानिए इसकी पूरी कहानी
लेकिन अब इस मामले से पर्दा उठ चुका है जिला जेल के अधीक्षक डीके सारस ने मामले में जानकारी देते हुए बताया कि उनके द्वारा जेल में बंद विचाराधीन कैदियों के साथ जेल नियम के तहत ही व्यवहार किया जाता है और शासन के निर्देश के अनुसार उन्हें सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती है। उन्होंने बताया कि जेल के अंदर से कोई मोबाइल जैसी चीजों से बात नहीं कराया जाता, बल्कि जेल के अंदर लगे लैंडलाइन टेलीफोन में बंदियों के परिजनों के द्वारा फोन करके बातचीत कराई जाती है, यह जरूर है कि बातचीत की लिमिट 5 मिनट रखी गई है  लेकिन यहां 12 मिनट के आसपास बात की गई है।

Umaria News: मीडिया की सुर्खियों में रहे जिला जेल के मामले में आया नया मोड़,यहाँ जानिए इसकी पूरी कहानी

उन्होंने बताया कि जिला जेल में बंद काकोड़िया के लिए उनके अधिवक्ता के द्वारा टेलीफोन किया गया था, जिससे उनकी बात कराई गई है। इस बीच अधिवक्ता ने उनके किसी कार्यकर्ता को कांफ्रेंस में लेकर बात करने का मामला सामने आया है, जिसके लिए अधीक्षक जेल ने काकोड़िया के अधिवक्ता को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण सहित पूरी जानकारी मांगा है। जानकारी आने के बाद मामले में आगे विधि सम्मत कार्रवाई  की जाएगी। जेल के अंदर सारी गतिविधयां शासन के निर्देश के अनुसार संचालित है।इस संबंध में उन्होंने अपने अधिकारियों को भी घटनाक्रम से अवगत कराया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here