मप्र के इतिहास में पहली बार: ग्वालियर कमिश्नर दीपक सिंह सहित 3 IAS अधिकारियों पर FIR दर्ज,आदिवासियों की जमीन बेचने का मामला

0
1292

एमपी (संवाद)। मध्य प्रदेश के इतिहास में यह पहला मौका होगा जब 3 आईएएस अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। ग्वालियर कमिश्नर दीपक सिंह, आबकारी कमिश्नर ओ पी श्रीवास्तव और मध्यप्रदेश शासन में उप सचिव बसंत कुर्रे के खिलाफ आदिवासियों की जमीन का साजिश के तहत बेचने की अनुमति मामले में लोकायुक्त टीम जबलपुर में ने एफ आई आर दर्ज की है। बीते 15 साल पहले यह तीनों आईएएस अधिकारी जबलपुर अंतर्गत अलग-अलग अनुभाग में एसडीएम पद पर तैनात रहे हैं इस दौरान इन्होंने साजिश रचते हुए आदिवासियों की जमीन बेचने की अनुमति दी थी।

साल 2007 से 2012 के बीच ये तीनों आई.ए.एस. जबलपुर में SDM पद तैनात रहे थे। तीनों अफसरों ने कुंडम इलाके में आदिवासियों की जमीन बेचने की अनुमति दे दी थी। इसकी जानकारी के बाद लोकायुक्त ने मामले का संज्ञान लिया था। अब लोकायुक्त जबलपुर ने ही तीनों आईएएस अफसरों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। माना जा रहा है कि जल्द ही इन बड़े अफसरों के खिलाफ एक्शन भी हो सकता है।

जबकि मध्य प्रदेश भू-राजस्व संहिता के अनुसार आदिवासियों की जमीन बेचने की अनुमति कलेक्टर द्वारा ही दी जा सकती है। इस मामले में कलेक्टर से शिकायत की गई। शिकायत के आधार मौजूदा SDM शेर सिंह मीणा ने जांच कर प्रतिवेदन जबलपुर लोकायुक्त को दिया था। प्रतिवेदन के आधार लोकायुक्त ने FIR दर्ज की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here