भाजपा नेत्री सना खान की हत्या की पुलिस ने सुलझाई गुत्थी,जबलपुर का अमित साहू निकला हत्यारा,सना के शव के टुकड़े कर फेंका हिरन नदी में

0
663
जबलपुर (संवाद)। महाराष्ट्र के नागपुर की रहने वाली बीजेपी नेत्री सना खान मामले की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है उसके लापता होने के 10 दिन बाद पूरे मामले से पर्दा उठ चुका है। हत्यारा वही शख्स निकला जिससे मिलने सना खान 1 अगस्त को नागपुर से जबलपुर आई थी। उसी दिन से लापता सना जबलपुर के अमित साहू के पास तो पहुंची लेकिन कभी वापस नहीं लौट सकी अमित साहू ने सना की हत्या कर उसके छोटे-छोटे टुकड़े कर हिरण नदी में फेंक दिया है। पुलिस ने मुख्य आरोपी अमित साहू को गिरफ्तार कर लिया है, जिसमें वह अपना जुर्म कबूलते हुए शव के टुकड़े कर हिरण नदी में फेंकना  बताया है। हालांकि अभी तक शव बरामद नहीं हो सका है।
गौरतलब है कि नागपुर निवासी बीजेपी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के पदाधिकारी सना उर्फ हिना खान जबलपुर के रहने वाले अमित उर्फ पप्पू साहू से 6 माह पूर्व शादी कर ली थी  जिसके बाद उसका जबलपुर निवासी उसके पति अमित के घर आना जाना रहा है। 1 अगस्त को भी वह नागपुर से अमित साहू के घर के लिए निकली थी और 2 अगस्त को वह जबलपुर अमित साहू के घर पहुंच गई। दौरान पैसों को लेकर दोनों के बीच विवाद की भी बात सामने आई है। इस दौरान सना खान ने नागपुर के अपने रिश्तेदार से अमित के द्वारा मारपीट किए जाने और उसे जबलपुर पहुंचने की बात बताई थी, इसके बाद से सना खान का मोबाइल बंद हो गया।
सना खान की मां ने बताया कि उसकी बेटी सना खान दो दिन में वापस नागपुर लौटने की बात कह कर गई थी लेकिन लगातार उसका मोबाइल बैंड बताया जा रहा है। इसके बाद उसकी मां ने नागपुर के मनकापुर पुलिस थाने आठवें दिन सना के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसके अलावा भाजपा अल्पसंख्यक पोस्ट के अध्यक्ष के द्वारा भी सना की पताशाजी के लिए अपने स्तर पर पुलिस से कहा गया था। गुमशुदकी की रिपोर्ट के बाद नागपुर पुलिस तत्काल जबलपुर पहुंच गई और जबलपुर पुलिस के सहयोग से अमित साहू के घर और उसके ढाबे पर छापामार कार्रवाई की गई। लेकिन पुलिस को कुछ हासिल नहीं हो सका। इस दौरान पुलिस ने ढाबे की वेटर से पूछताछ की तब पुलिस को कुछ सुराग हासिल हुए थे। वेटर ने पुलिस को बताया कि अमित साहू उस दिन कार लेकर ढाबा आए थे और उसे कार को धोने के लिए कहा गया कार को धोते समय डिक्की में खून के धब्बे बेटर ने देखा था।
लगातार नागपुर पुलिस और जबलपुर पुलिस के प्रयास से आखिरकार आरोपी अमित और पप्पू साहू को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया पुलिस के द्वारा काफी पूछताछ किए जाने पर पप्पू साहू अपना जुर्म का बोलते हुए सना की हत्या कर उसके शव को हिरन नदी में फेंकना बताया। पप्पू साहू ने पुलिस को बताया कि वह छह महापुरुष सना खान से विवाह किया था, तभी से सना खान रुपयो पैसों के लिए उसे दबाव बनाना शुरू कर दिया। पप्पू ने बताया कि वह सना को सब कुछ देता था लेकिन कभी पैसे की कमी के चलते पैसे नहीं दे पता था। जिसके चलते सना और उसके बीच विवाद होता रहता था 2 अगस्त को भी जब सोना उसके घर पहुंची और पैसे की मांग करने लगी, इस दौरान दोनों  के जमकर विवाद हुआ। तभी पप्पू साहू ने गुस्से में आकर डंडे से सना खान के सिर पर वार कर दिया और उसकी मौत हो गई। बाद में वह शव को चादर में लपेटकर रात्रि की अंधेरे में हिरन नदी में फेंक दिया।
इधर सना खान की मां ने पुलिस को बताया कि सना हमेशा सोना के जेवर पहनने की शौकीन थी। वह 4 से 5 लाख का सोना पहनती थी। उस दिन भी जब वह जबलपुर गई थी तब भी सोने के जेवरात पहने हुए थी। इस दौरान यह बात भी सामने आई कि सना ने अपने पति अमित साहू को सोने की चैन भी गिफ्ट में दिया था लेकिन अमित के द्वारा उस चैन को भी बेंच दिया गया। इस कारण भी दोनों के बीच विवाद होता रहता था।
पुलिस ने आरोपी अमित साहू की निशानदेही पर सना खान के शव की तलाश में जुटी है। फिलहाल नदी से शव बरामद नहीं हुआ है। आज शनिवार को भी पुलिस के द्वारा गोताखोरों के माध्यम से सना के शव की तलाश की जा रही है। पुलिस ने आरोपी अमित के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज करते हुए गिरफ्तार कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here