प्रियंका गांधी तक पहुंचा सरसवाही में नदी पार कर स्कूल जाने का मामला,मामा शिवराज की भांजियों के इस हालत का जिम्मेदार आखिर कौन?

0
971
उमरिया (संवाद)। जिला मुख्यालय के नजदीक ग्राम सरसवाही में छात्रों के द्वारा बारिश से उफनाती नदी को पार करके स्कूल जाने की खबर मीडिया में प्रमुखता से दिखाए जाने के बाद अब यह मामला कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी के पास तक पहुंच गया है। निश्चित रूप से आज के समय मे ऐसी तश्वीर और जहां देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपने व 21वीं सदी के भारत की परिकल्पना को यहां के जिम्मेदारों ने तार-तार कर दिया है। वहीं एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान जो रात दिन प्रदेश के बेटा-बेटियों को भांजे, भांजियाँ कहते नही थकते है उमरिया जिले की यह तश्वीर देखकर कि बाढ़ में एक दूसरे का हाथ पकड़कर कैसे उफनाती नदी को पार कर स्कूल पहुंच रही सैकड़ो मामा की भांजियों की इस हालत के जिम्मेदार आखिर कौन है?
दरअसल जिला मुख्यालय से 10 किलोमीटर बाँधवगढ़ मार्ग से थोड़ा अंदर सरसवाही वह गांव है जहां दर्जनों गाँव के बच्चो के लिए हायर सेकेंडरी का स्कूल है। जहां पर उन तमाम गावो के छात्र छात्राएं पढ़ाई करने के लिए स्कूल पहुंचती है। जिनमे मझगवां,बरतराई,कोडार, ददरौंड़ी,बरदौहा, बरबसपुर,घघड़ार,
बदरेहल सरसवाही और खेरवा सहित अन्य गांव शामिल है। जहां बच्चे सैकड़ो की तादात में अलग अलग कक्षाओं में पढ़ाई करने जाते है। इनमें से खासकर 3 गांव ददरौड़ी, कोडार और बरतराई के सैकड़ो बच्चे स्कूल जाते समय बरुहा नदी को पार करके स्कूल पंहुँचते है। चूंकि इस समय बारिश का दौर है और नदी नाले उफान पर है जिस कारण बाढ़ में नदी पार करके स्कूल जाने वाले बच्चो की जान का खतरा बना रहता है। 
वहीं यह पूरा इलाका बाँधवगढ़ टाईगर रिजर्व से घिरा होने के कारण बाघ सहित अन्य जंगली जानवरों का खतरा भी बना रहता है। इन गांवों के लिए एक दूसरा मार्ग भी जंगल से होकर निकलता है। लेकिन यहां के लोग जंगली जानवरों के डर और काफी लंबा होने के कारण ज्यादातर इसी नदी वाले मार्ग का इस्तेमाल करते है। इसीलिए यहां पर काफी समय पहले  पुल का निर्माण कराया गया था जिससे लोग बेहतर ढंग से आवागमन करते थे। लेकिन बीते 4-5 साल पहले नदी का पुल क्षतिग्रस्त होकर पूरी तरह धराशाई हो गया है। इस कारण नौनिहाल छात्र अपनी जान को जोखिम में डालकर नदी पार करके पढ़ाई करने स्कूल पहुंचते है और इसी मार्ग से ही वापस लौटते है।
पूरे प्रदेश सहित जिले में बारिश का दौर जारी है नदी नाले उफान पर है जिसके कारण जिले में 2 लोगों की बाढ़ में बहकर जान भी जा चुकी है। ऐसे में इन सैकड़ो छात्रों का नदी पार करना कितना खतरनाक हो सकता है जिसको लेकर मीडिया ने जमकर खबर दिखाई है। जिसके बाद अब मामला कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी तक पहुंच गया है। उमरिया के कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेश शर्मा ने बताया कि उन्हें कांग्रेस नेत्री प्रियंका गांधी के निर्देश पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के कार्यालय से फोन करके सरसवाही में छात्रों के नदी पार करने के मामले पर विस्तृत जानकारी मांगी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here