ओबीसी महासभा के लगातार विरोध के बाद आखिर कलेक्टर ने नेत्र सहायक ज्ञानेंद्र मिश्रा को हटाया

0
1198
उमरिया (संवाद)। जिले के मानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कई वर्षों से पदस्थ नेत्र सहायक ज्ञानेंद्र प्रसाद मिश्रा को कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव के द्वारा मानपुर से हटाकर पाली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए आदेश जारी किया गया है। इसके पहले ओबीसी महासभा के द्वारा ज्ञानेंद्र मिश्रा का लगातार विरोध करने के बाद यह कार्यवाही होने के पीछे एक वजह यह भी मानी जा रही है। 
 
दरअसल जिले के सामुदायिक स्वास्थ्य मानपुर अंतर्गत ग्राम बल्हौड़ में पदस्थ एएनएम आरती पटेल अपनी शारीरिक बीमारी के कारण काफी परेशान थी इसलिए वह अपनी पदस्थापना मानपुर स्वास्थ्य केंद्र कराना चाहती थी। इसके लिए वह बीएमओ मानपुर, सीएमएचओ और कलेक्टर तक से निवेदन कर चुकी थी। लेकिन उसकी परेशानी को सभी ने अनसुना कर दिया। इसके अलावा इसके कुछ दिनों पूर्व मानपुर स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ सीएचसी प्रभारी डॉ अभिषेक मिश्रा और कई वर्षों से मानपुर में जमे उसके पिता नेत्र सहायक ज्ञानेंद्र मिश्रा के द्वारा एएनएम आरती पटेल को लगातार प्रताड़ित किया जा रहा था। इतना ही नही इनके द्वारा आरती पटेल को गाली गलौज करना और धमकाने और मानसिक रूप से प्रताड़ित करने जैसा कृत्य भी इनके द्वारा किया जा रहा था। जिसको लेकर कई बार आरती पटेल ने जिले के सीएमएचओ और कलेक्टर से इस बावत शिकायत भी कर चुकी थी। लेकिन कोई कार्यवाही नही होने पर डॉ बेटे और बाप पर कोई फर्क नही पड़ रहा था और उनका हौसला और भी बढ़ता गया। जिसके बाद थक हारकर मानसिक रूप से प्रताड़ित एएनएम आरती पटेल ने बीते 18 अगस्त को अपनी ससुराल वार्ड नंबर 1 भर्री टोला में फाँसी लगाकर आत्महत्या कर ली।
जिसके बाद ओबीसी महासभा के द्वारा पहले तहसील मुख्यालय मानपुर और फिर जिला मुख्यालय उमरिया में सैकड़ो की तादात में ओबीसी महासभा के लोंगो ने रैली निकालकर और नारे लगाकर विरोध जताया फिर कलेक्ट्रेट और पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन सौंपा था।ज्ञापन के दौरान ओबीसी पदाधिकारियों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मानपुर में पदस्थ डॉ अभिषेक मिश्रा और कई वर्षों से मानपुर में जमे उसके पिता नेत्र सहायक ज्ञानेंद्र प्रसाद मिश्रा की कारगुजारियां, उनके नीचे काम करने वाले स्टाफ से की जा रही हरकतो को लेकर उन दोनों पर कानूनी कार्यवाही करने की मांग की गई थी। 
ओबीसी महासभा की मांग के बाद जिले के कलेक्टर संजीव श्रीवास्तव के द्वारा कई वर्षों से एक ही स्थान पर जमे नेत्र सहायक ज्ञानेंद्र प्रसाद मिश्रा को मानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से हटाते हुए पाली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र  में ज्वाइन करने संबंधी आदेश जारी किए गए है। साथ ही आदेश में यह भी उल्लेख किया गया है कि सात दिवस के भीतर पाली स्वास्थ्य केंद्र में जॉइन नही करने पर नेत्र सहायक ज्ञानेंद्र प्रसाद मिश्रा की वेतन रोकने की कार्यवाही की जाय। हालांकि कलेक्टर के आदेश में ओबीसी महासभा के विरोध के कारण उसे हटाये जाने का कोई उल्लेख नही है। बल्कि अंधत्व निवारण कार्यक्रम का सफल क्रियान्वयन और कार्य व्यवस्था को सुचारू रूप से क्रियान्वयन के लिए किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here