उप संचालक को लोकायुक्त ने रिश्वत लेते किया गिरफ्तार, योजना का लाभ देने हितग्राही से मांगी थी रिश्वत

0
4138
मुरैना (संवाद)। मध्य प्रदेश के मुरैना से रिश्वत से जुड़ा एक और मामला सामने आया है जिसमें उपसंचालक के द्वारा शासकीय योजना का लाभ दिलाने के नाम हितग्राही से रिश्वत की मांग की थी। जिसे लोकायुक्त ने आज मंगलवार को 3 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।

उप संचालक को लोकायुक्त ने रिश्वत लेते किया गिरफ्तार, योजना का लाभ देने हितग्राही से मांगी थी रिश्वत

दरअसल मुरैना जिले में पदस्थ कृषि विभाग के उप संचालक आईपीएस भदोरिया के द्वारा विभाग में पदस्थ कर्मचारी सत्येंद्र के भाई को पशु संवर्धन योजना से 6 लाख रुपए का लोन मंजूर करने के नाम उपसंचालक में 12 हजार की रिश्वत मांगे थी। दोनों के बीच बातचीत के दौरान पूरा मामला 10 हजार में तय हो गया।

उप संचालक को लोकायुक्त ने रिश्वत लेते किया गिरफ्तार, योजना का लाभ देने हितग्राही से मांगी थी रिश्वत

उपसंचालक कृषि के द्वारा रिश्वत की राशि 10 हजार में से 7 हजार रुपये हितग्राही से पहले ले ली गई। शेष बची 3000 की राशि की मांग उप संचालक के द्वारा हितग्राही से लगातार की जा रही थी। इसी से परेशान होकर हितग्राही और उसके भाई ने इस पूरे मामले की शिकायत लोकायुक्त टीम से कर दी।

उप संचालक को लोकायुक्त ने रिश्वत लेते किया गिरफ्तार, योजना का लाभ देने हितग्राही से मांगी थी रिश्वत

इसके बाद लोकायुक्त की टीम ने रिश्वतखोर उपसंचालक आईपीएस भदोरिया को रंगे हाथ पकड़ने का प्लान बनाया और आज मंगलवार को जैसे ही रिश्वत की शेष राशि ₹3000 हितग्राही के द्वारा उप संचालक को दी गई, उसके तुरंत बाद लोकायुक्त टीम ने छापा मार करवाई कर दी। जिसमें कृषि विभाग के उपसंचालक को रिश्वत की राशि ₹3000 सहित गिरफ्तार कर लिया है और अब उसके खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा के तहत कार्यवाही की जा रही है।

उप संचालक को लोकायुक्त ने रिश्वत लेते किया गिरफ्तार, योजना का लाभ देने हितग्राही से मांगी थी रिश्वत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here